जिस्मफरोशी के धंधे में है ऑटो वालों की धाक

जिस्मफरोशी के धंधे में है ऑटो वालों की धाक

क्या आप जानते है की जिस्मफरोशी के धंधे में सिर्फ वेश्याओ की कमाई नहीं होती, बल्कि ऑटोवालों की भी काफी अच्छी कमाई हो जाती है. इन्ही की बदौलत ऑटोवालों को काफी अच्छा पैसा कमाने का अवसर मिलता है। हम बात कर रहे है गुड़गांव के इफ्को चौक की. जिस समय पब के सरे दरवाजे बंद हो रहे होते है। सड़के बिलकुल सुनसान हो जाती है तब सड़क पर एक कार आकर रूकती है। उसमें बैठा आदमी पास खड़े एक ऑटो में लेन-देन की बात करता है और जब डील फिक्स हो जाती है तो उस ऑटो से एक लड़की निकलती है और कार में बैठकर चली जाती है।जहां साइबर सिटी के इस इलाके में जिस्मफरोशी का धंधा नए तरीके से खुलेआम चल रहा है।

जी हाँ जिस्मफरोशी का यह धंधा साइबर सिटी के इफ्फो चौफ पर खुल्लेआम होता है। यहां के ऑटोवाले इस धंधे में शामिल लड़कियों का साथ देते है। खास बात तो यह है कि इन सभी बातों को जानने के बावजूद पुलिस इन पर कोई कार्रवाई नहीं करती। जिस्मफरोशी का यह खेल रात के एक बजे सारे पब बंद होने के बाद शुरू होता है। जब पब में मौज-मस्ती कर रहे युवा बाहर निकल रहे होते हैं। एक से पांच हजार में तय होती है डील ठीक उसी समय चौराहे पर खड़े ऑटो में कई लड़कियां बैठी होती हैं। एक आदमी वहां आकर ऑटो में बैठी लड़कियों से डील तय करता है और डील फिक्स हो जाने पर अपनी गाड़ी में उस लड़की को बैठाकर चल देता है।

एक ऑटोवाले के मुताबिक यह डील अक्सर एक हजार से लेकर पांच हजार रुपये में तय होती है। डील के हिसाब से उन पैसों में ऑटो वालों का भी शेयर तय होता है। जिस्मफरोशी के इस नए तरीके में ऑटो वाले रोजाना औसतन एक हजार से डेढ़ हजार तक की कमाई कर लेते है। पुलिस अधिकारी जवाब नहीं देते इफ्को चौक पर लगी जिस्मफरोशी की इस नई मंडी में महज नाम के लिए एक पुलिस कांस्टेबल भी तैनात होता है। इस मामले में जब गुड़गांव पुलिस के एसीपी हवा सिंह से बात की गई तो उन्होंने कुछ भी कहने से इंकार कर दिया। हालांकि इफ्को चौक पर तैनात कांस्टेबल ने खुलेआम हो रहे जिस्मफरोशी के इस काले धंधे की बात कुबूल जरूर की लेकिन कार्रवाई करने की बात पर इंकार कर दिया।

पब कर्मचारी भी इस धंधे में शामिल इलाके से वाकिफ है लोगों की माने तो इस पूरे धंधे में पब के कर्मचारी भी शामिल होते है। इनका एक पूरा गैंग है जो जिस्मफरोशी के इस पूरे खेल की देखरेख करता है। यह गैंग लड़के-लड़कियों को पुलिस से बचाने के लिए भी तैयार रहते है। हालांकि बीते दिनों पुलिस ने इफ्को चौक से तकरीबन 1,835 गाड़ियों को जब्त भी किया है मगर इन सभी को नियम तोड़ने के मामूली जुर्म में केवल चालान करके छोड़ दिया गया। गौरतलब है कि साइबर सिटी के सबसे प्रसिद्ध इलाके इफ्को चौक पर खुलेआम वेश्यावृत्ति का घिनौना खेल राज्य की कानून व्यवस्था पर जोरदार तमाचा है। खास बात यह है कि जानकारी होने के बावजूद जिस्मफरोशी के इस धंधे पर लगाम कसने के लिए पुलिस ने अभी तक कोई ठोस कदम नहीं उठाए है।

सेक्स सिर्फ रुपए पैसों के लिए नहीं होता

 

OMG लड़कियां इन चीजों से भी कर लेती है हस्थमैथुन

होटल के कमरे में पहुची लड़की, तभी बाथरूम से निकले माँ-बाप, और फिर....

Omg :15 साल की लड़की ने 25 लड़कों के साथ किया सेक्स​

महिला फिटनेस क्लब के चेंजिंग रूम में लगा था ऐसा नोटिस की पड़कर हो जायेगे आप भी हैरान​

अकेले में नहाते हुए हर लड़की के मन में आती है ये बाते