ICMR का दावा- कोरोना के डेल्टा प्लस उस वैरिएंट के खिलाफ भी असरदार है ये वैक्सीन

नई दिल्ली: इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) के अध्ययन में कहा गया है कि कोवैक्सीन (Covaxin) कोरोना के डेल्टा प्लस वेरिएंट (Delta Plus Variant) के खिलाफ भी असरदार है. कोरोना की तीसरी लहर से पहले ICMR ने ये बड़ा दावा किया है. बता दें कि कोरोना की तीसरी लहर से डेल्टा प्लस वेरिएंट को लेकर लोगों के मन में बेहद भय बना हुआ है.

 

इससे पहले, भारत बायोटेक ने कहा था कि कोवैक्सिन ने रोगसूचक कोरोना के विरुद्ध 77.8 फीसद प्रभावशीलता और नए डेल्टा संस्करण के खिलाफ 65.2 फीसद सुरक्षा का प्रदर्शन किया है. कोवैक्सिन गंभीर कोरोना मामलों के खिलाफ 93.4 फीसद असरदार साबित हुई है. प्रभावकारिता डेटा ने एसिम्टोमैटिक कोरोना के विरुद्ध 63.6 फीसद सुरक्षा का दावा किया है. आपातकालीन उपयोग सूची (EUL) के लिए जरुरी सभी डाक्यूमेंट्स भारत बायोटेक द्वारा कोवैक्सिन के लिए 9 जुलाई तक विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के समक्ष पेश किए गए थे और एजेंसी द्वारा समीक्षा प्रक्रिया आरंभ हो गई थी.

स्वास्थ्य राज्य मंत्री भारती प्रवीण पवार ने राज्यसभा को भी इस संबंध में सूचित किया था. इसे लेकर WHO द्वारा समीक्षा प्रक्रिया आरंभ हो गई है. उन्होंने एक लिखित उत्तर में कहा कि WHO आमतौर पर आपातकालीन उपयोग सूची (EUL) सबमिशन पर फैसला लेने में छह हफ्ते तक का समय लेता है.

देशभर में धीमी पड़ती जा रही है कोरोना वैक्सीन के दूसरे डोज की तेजी

पूरा हुआ सीएम योगी का टीकाकरण, खुद ट्वीट करते हुए दी जानकारी

कोरोना के खिलाफ सुरक्षित हुआ भुवनेश्वर ! बना ऐसा करने वाला देश का पहला शहर

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -