'मुझे सच बोलने की सजा मिली..', बर्खास्तगी पर बोले गुढ़ा, विधानसभा में कहा था- राजस्थान रेप में अव्वल, हमारी सरकार नाकाम !
'मुझे सच बोलने की सजा मिली..', बर्खास्तगी पर बोले गुढ़ा, विधानसभा में कहा था- राजस्थान रेप में अव्वल, हमारी सरकार नाकाम !
Share:

जयपुर: राजस्थान में अशोक गहलोत के नेतृत्व वाली कांग्रेस सरकार में मंत्री पद से बर्खास्त किए जाने के बाद राजेंद्र सिंह गुढ़ा ने कहा है कि उन्हें सच बोलने की सजा मिली है। बता दें कि, कल यानि 21 जुलाई 2023 को, राजस्थान के ग्रामीण विकास मंत्री, राजेंद्र सिंह गुढ़ा को राज्य की कांग्रेस सरकार ने बर्खास्त कर दिया था, क्योंकि उन्होंने राज्य विधानसभा में स्वीकार किया कि राज्य सरकार, महिलाओं की सुरक्षा सुनिश्चित करने में विफल रही है।

 

पूर्व मंत्री गुढ़ा ने इस बात पर जोर दिया था कि मणिपुर पर उंगली उठाने के बजाय, राजस्थान सरकार को महिलाओं की सुरक्षा सुनिश्चित करने को प्राथमिकता देनी चाहिए, एक ऐसी जिम्मेदारी जिसे पूरा करने में वह लगातार पीछे रह गई है। अब बर्खास्तगी के बाद राजेंद्र सिंह गुढ़ा ने कहा है कि, ''मैंने वही कहा जो मुझे सही लगा। ये कहना कोई गुनाह नहीं था। मैं वही कहता हूं जो मुझे सही लगता है। जब यह सरकार संख्या संकट में थी, तब हमने इस सरकार को मजबूत करने में कोई कसर नहीं छोड़ी। जब भी सरकार पर संकट आया, जब भी कोई समस्या आई, हम पूरी ताकत से उसके पीछे खड़े रहे।”

उन्होंने कहा, ''मुझे सच बोलने की सजा मिली। महिलाओं से दुष्कर्म के मामलों में राजस्थान शीर्ष पर है। RPSC में भ्रष्टाचार है। कमियों को दूर करने के बजाय सरकार निष्क्रिय है। हमें हमारी बहनों और बेटियों ने वोट देकर सत्ता में भेजा है, ताकि हम उनकी गरिमा की रक्षा कर सकें। सारे रिकॉर्ड कहते हैं कि महिलाओं पर अत्याचार में राजस्थान नंबर एक पर पहुंच गया है।'' राजेंद्र सिंह गुढ़ा ने आगे कहा, 'मणिपुर की घटना शर्मनाक थी और इसकी निंदा की जानी चाहिए। मैंने बस इतना कहा कि हमें अपना आत्मनिरीक्षण करना चाहिए।' हम चार महीने बाद जनता के सामने जायेंगे। हम लोगों का सामना कैसे करेंगे? मैंने सिर्फ आत्ममंथन की बात की थी और कुछ नहीं था।' मुझे सच बोलने की सज़ा मिली है।”

बता दें कि, शुक्रवार को विधानसभा में न्यूनतम आय गारंटी विधेयक पर बहस के दौरान गुढ़ा ने अपनी ही सरकार पर महिला सुरक्षा सुनिश्चित करने में नाकाम रहने का आरोप लगाया। मणिपुर की घटना के विरोध में कांग्रेस विधायकों ने विधानसभा में नारेबाजी की। उस समय गुढ़ा ने कहा था कि, ''यह सच है और यह स्वीकार किया जाना चाहिए कि हम महिला सुरक्षा में विफल रहे हैं। हमें मणिपुर के बजाय अपने अंदर झांकना चाहिए कि राजस्थान में महिलाओं पर अत्याचार बढ़े हैं।' राजस्थान में महिला सुरक्षा की खराब स्थिति पर उनकी टिप्पणी के बाद, राजेंद्र गुढ़ा को हाईकमान से चर्चा कर मंत्री पद से बर्खास्त कर दिया गया।   

'मणिपुर छोड़ो, राजस्थान में बढ़ रहा महिलाओं पर अत्याचार', कांग्रेस नेता ने खोली अपनी ही सरकार की पोल तो CM गहलोत ने किया बर्खास्त

'मोदी सत्ता में लौटे तो लोकतंत्र ख़त्म हो जाएगा, मुझे कोई पद नहीं चाहिए..', भाजपा पर जमकर बरसीं ममता बनर्जी

'अहमदिया समुदाय मुस्लिम नहीं, काफिर है..', वक्फ बोर्ड ने जारी किया फतवा, भड़की केंद्र सरकार ने उठाया ये कदम

 

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -