इस रेलवे स्टेशन की जिम्मेदारी बड़े नहीं बल्कि बच्चे निभाते हैं, जानें क्यों