स्कूल के नाटक में आतंकी को 'मुस्लिम वेशभूषा' में कैसे दिखाया ? केरल पुलिस ने 10 लोगों को पकड़ा
स्कूल के नाटक में आतंकी को 'मुस्लिम वेशभूषा' में कैसे दिखाया ? केरल पुलिस ने 10 लोगों को पकड़ा
Share:

कोच्ची: केरल पुलिस ने राज्य स्तरीय स्कूल उत्सव के उद्घाटन समारोह में एक प्रस्तुति के दौरान मुस्लिम आतंकी का चित्रण दिखाने के इल्जाम में 1 अप्रैल 2023 को 10 लोगों को हिरासत में ले लिया। रिपोर्ट के अनुसार, यह कार्यक्रम 3 जनवरी 2023 को हुआ था। 5 दिन चले उत्सव में पेंरांबरा के MATHA (मलयालम थिएट्रिकल हेरीटेज एंड आर्ट्स) ने संगीत समारोह का आयोजन किया था। इसमें दिखाया गया था कि किस तरह भारतीय सेना ने सिर पर कैफिया (अरब लोगों द्वारा पहने जाने वाला हेडकवर) पहने शख्स को अरेस्ट किया था।

 

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, राजीव गाँधी स्टडी सर्कल के डायरेक्टर अनूप वीआर ने इस म्यूजिकल प्रोग्राम के बाद नदाकावू पुलिस में शिकायत कर दी थी और केस दर्ज करने का आग्रह किया था। किन्तु, पुलिस ने ऐसा करने से इंकार कर दिया। इसके बाद अनूप कोर्ट पहुँच गए थे। जिसके बाद कोझिकोड कोर्ट ने IPC की धारा 153ए के तहत माथा पेरांबरा के निदेशक और 10 अन्य लोगों के खिलाफ केस दर्ज करने का आदेश दिया। अदालत के आदेश पर इस मामले में केस दर्ज हुआ। वहीं, माथा (MATHA) ने अपने ऊपर लगे आरोपों को नकारते हुए कहा है कि मुस्लिम वेशभूषा में आतंकी को दिखाना, किसी मंशा के तहत नहीं हुआ और न ही इसका किसी सियासी संगठन या विचारधारा से कोई ताल्लुक है।

माथा के डायरेक्टर ने कहा कि उनके ऊपर लगाए गए आरोप कि उन्होंने RSS के एजेंडे को बढ़ाया, बिलकुल बेबुनियाद हैं। उन्होंने कहा कि, 'हमारी पर्फॉर्मेंस के बाद तो मोहम्मद रियास ने भी हमें बधाई दी थी। हमारे गाने का नाम दृश्या विस्मयम था। इसी टीम ने कम्युनिस्ट पार्टी (CPM) के कई जिला सत्रों के दौरान भी प्रदर्शन किया था। माथा के निदेशक के मुताबिक, कार्यक्रम वाले दिन भी म्यूजिकल प्रोग्राम सीएम और अन्य मंत्रियों की उपस्थिति में बजाया गया था। ये गाना मुख्यमंत्री द्वारा आयोजन के उद्घाटन से बिलकुल पहले बजा था। केरल के इस कार्यक्रम को एशिया में सबसे बड़ा छात्र सांस्कृतिक जमावड़ा माना जाता है।

महावीर जयंती पर जरूर पढ़ें उनके ये सुविचार, जो बदल देंगे आपका जीवन

'गौमूत्र पीने वाली काफिर कौम..', आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट ने हिन्दुओं पर जमकर उगला जहर

'मुझसे बड़ा गुंडा पूरे देश में नहीं..', ओमप्रकाश राजभर का बयान हुआ वायरल

 

रिलेटेड टॉपिक्स