हाउ टू रिमूव इनडेलिबल इंक, अब ये गूगल से पूछा जा रहा है

नई दिल्ली : नोटबंदी के बाद से सरकार और कालेधन वालो के बीच कड़ा मुकाबला चल रहा है. सरकार खुले आम फैसले ले रही है जिससे की ब्लैक मनी को किसी भी रस्ते से वाइट ना किया जा उसके. हाल ही में जब पता चला की नोट बदलवाने के माध्यम से कालेधन वाले लोग अपना पैसा वाइट करवा रहे है तो सरकार ने इस पर लगाम लगते हुए बैंकों को इनडेलिबल इंक इस्तेमाल करने को कहा यह आम तौर पर चुनाव में इस्तेमाल होती है.

यह आदेश 15 नवम्बर को दिया गया था. इसके बाद से कालेधन वालो ने फिर से गूगल का सहारा लिया और गूगल में सबसे ज्यादा सर्च किया 'इनडेलिबल इंक रिमूवल'. इससे पहले जब सरकार ने कालेधन पर सर्जिकल स्ट्राइक की तो उस समय भी इन कालेधन वालों ने गूगल का सहारा लिया था और सबसे ज्यादा सर्च किया गया था ' हाउ तो कन्वर्ट ब्लैक मनी तो वाइट मनी' इसका मतलब ये हुआ की काले धनवाले इस समय सच में परेशान है क्योंकि गूगल का सहारा तभी लिया जाता है जब काम नामुमकिन हो. इसलिए सरकार द्वारा किया गया सर्जिकल स्ट्राइक सफल होता दिखाई दे रहा है.

लेनोवो के इस फोन में होगा सबसे लेटेस्ट स्नैपड्रैगन प्रोसेसर

दुनिया का सबसे तेज ऑटोफोकस करने वाला कैमरा, 0.05 सेकिंड में

 

 

न्यूज ट्रैक वीडियो

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -