Holi 2017 - शुरुआत हो चुकी है रंगों के आने की, आ रहा रंगों का त्यौहार

Holi 2017 - शुरुआत हो चुकी है रंगों के आने की, आ रहा रंगों का त्यौहार

Rangwali Holi 2017 or Dhulandi 2017

जैसा की आप सभी जानते है कि होली एक धार्मिक त्यौहार है जिसे हिन्दुओ द्वारा मनाया जाता है, और ऐसा नहीं है कि होली को सिर्फ भारत में ही मनाया जाता है बल्कि यह त्यौहार पुरे देश में मनाया जाता है। जैसा की आप जानते है कि इस बार होली 13 मार्च को है। 13 मार्च को रंगों वाली होली खेली जाएगी, और उसके एक दिन पहले मतलब 12 मार्च को होलिका दहन किया जाएगा। होली को हिन्दुओ का दुसरा सबसे बड़ा त्यौहार माना जाता है इसके पहले दिवाली को बड़ा त्यौहार माना जाता है। होली रंगों का त्यौहार है। इस दिन को लोग रंगों के साथ मनाते है।

इस त्यौहार का इंतज़ार सभी बड़ी ही बेसब्री के साथ करते है। होली का सबसे रंगीन समा ब्रज में देखने को मिलता है जहाँ कृष्णा भगवान गोपियों के साथ होली खेला करते थे। सभी जगह के साथ साथ सबसे ज्यादा ब्रज की होली लोकप्रिय मानी जाती है साथ ही वह काफी फेमस भी है। आपको बता दें की मथुरा, व्रंदावन, गोकुल,नन्दगाँव, बरसाना में लट्ठमार होली खेली जाती है जिसे सभी मग्न होकर खेलते है।

आप सभी जानते ही है की होली दो दिन मनाई जाती है पहले दिन जलाने वाली होली के नाम से और दूसरे दिन रंग वाली होली के नाम से। जलाने वाली होली को छोटी होली और होलिका दहन भी कहा जाता है, इस दिन रात में जब सूर्यास्त हो जाता है तो लोग लकड़ियों का झुण्ड बनाकर उसे जलाते है। और उसके बाद दूसरे दिन एक दूसरे को रंग लगाकर जश्न मनाते है। रंग वाली होली को लोग धुलंडी के नाम से भी जानते है। होली के दिन दुश्मन भी आपस में गले मिल जाते है।

होली को रंगों का त्यौहार कहा जाता है। होली के दिन लोग गुलाल और पक्के रंगों से होली खेलते है और एक दूसरे को रंगों में रंग देते है। होली एक ऐसा त्यौहार है जो रंगों को और खूबसूरत बनाता है। होली पर लोग एक दूसरे के घर जाकर उन्हें रंग लगाते है और अपने रिश्ते को और मजबूत बनाते है।

होली से जुडी सभी खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे

Holi 2017 Special : जानिए होलिका दहन का सही समय और पूजा विधि

?