हीमोग्लोबिन की कमी को ना करे अनदेखा, हो सकता है खतरनाक

हीमोग्लोबिन की कमी को ना करे अनदेखा, हो सकता है खतरनाक

अक्सर महिलाओं में हीमोग्लोबिन की कमी सबसे अधिक पाई जाती है, उसके बाद भी महिलाएं इस बीमारी से पूर्ण रूप से अंजान है। असल में हीमोग्लोबिन ब्लड की कोशिकाओं में उपस्थित आयरन अथवा लौह युक्त प्रोटीन है, जो बॉडी के अलग-अलग अंगों तक प्राणवायु पहुंचाने का काम करता है। हीमोग्लोबिन फेफड़ों से प्राणवायु लेकर इसे ब्लड के माध्यम से पूरी बॉडी तक पहुंचाता है।

वही महिलाओं में हीमोग्लोबिन की कमी की सबसे बड़ी वजह उनकी डाइट है। हीमोग्लोबिन का ही प्रभाव है कि महिलाएं थकान फील करती हैं, उन्हें ब्लडप्रेशर जैसी समस्यां हो जाती है। कई बार महिलाएं इस रोग के कारण डिप्रेशन में भी पहुंच जाती हैं। हीमोग्लोबिन की कमी प्रेग्नेंट महिलाओं में, पीरियड के दौरान ज्यादा ब्लीडिंग होने के कारण से या फिर आयरन से भरपूर फूड्स नहीं खाने के कारण होती है।

इसके साथ-साथ महिलाओं में 12 से 16 मिलीग्राम हीमोग्लोबिन होना चाहिए। इससे कम हीमोग्लोबिन होने पर बॉडी में कई प्रकार की हेल्थ से जुड़ी परेशानियां हो सकती हैं। हीमोग्लोबिन का लेवल कम होने पर महिलाओं को कमजोरी, चक्कर आना, सिरदर्द जैसी दिक्कतें हो सकती है। बॉडी में हीमोग्लोबिन की कमी को पूरा करने के लिए आप विटामिन सी से भरपूर चीजें खाएं। विटामिन सी में ज्यादा आयरन पाया जाता है जिससे शरीर को ज्यादा आयरन प्राप्त होता है। वही फोलिक एसि़ड एक तरह का विटामिन ही होता है, जो बॉडी में लाल रक्त कोशिकाओं को बनाने में सहायता करता है। आप ऐसे आहार का सेवन करें जो फोलिक एसिड से भरपूर हो। आप अपनी डाइट में हरी पत्तेदार सब्जियां, चावल, अंकुरित अनाज, सूखे सेम, गेहूं के बीज, मूंगफली,केला आदि का सेवन करें। इनके सेवन से आपको काफी राहत मिलेगी।

जानिए कौन सा पानी होता है चेहरे और बालों के लिए बेहतर

चिराग बोले- ICU में भर्ती रामविलास पासवान का हाल जानने के लिए पीएम मोदी ने कई बार किया फ़ोन

24 घंटे नशे में रहता है इस बीमारी से ग्रसित व्यक्ति, जानिए क्या है ये