नवरात्री के समय में अपने शरीर का संतुलन बनाये

By Durgesh Jat
Oct 10 2015 07:05 PM
नवरात्री के समय में अपने शरीर का संतुलन बनाये

भारत में नवरात्री की तैयारिया शुरू हो गयी है. नवरात्री में उपवास में लगने वाली सामग्री भी मार्केट में आने लगी है, जो उपहास में खायी जाती है, और इससे नवरात्री के नौ दिन तक शरीर में ऊर्जा बनी रहे, इस बात को ध्यान में रखते  हुए बाजार से कोई भी सामग्री खरीदते हो आप जो उपहास के लिए उपयुक्त है. उसकी शुद्धता का विशेष ध्यान रखना जरुरी है. क्योकि कई प्रकार के फल और सूखे फलियार और ज्यूस कई दिनों के हो सकते है, जो आपके शरीर को नुकसान पंहुचा सकते है, आपको ताजा सामग्री और घर में बनाई गई खाद सामग्री का ज्यादा से ज्यादा उपयोग करना चाहिए, जिससे बाहरी बीमारी से बचा जा सके और आपके नो दिन अच्छी तरह से गुजरे क्योकि आप उपहास में कई प्रकार की सामग्री व फल- फूल और दूध से बनी हुई मिठाईया या अन्य पदार्थ  का सेवन करते हो लेकिन बहुत कम लोग ही इनकी शुद्धता की परख कर पाते है.

जैसे आप सूखे पदार्थ में अधिकतर पेकेट में बंद खाद सामग्री का उपयोग करते हो जो कई दिनों की पैक है जिनकी जानकारी हमे पूरी नहीं होती ये बाज़ारो वाली सामग्री कई हमे खतरे में तो नहीं डाल रही है. इसलिए बाजार से उन खाद सामग्री को ही खरीदना  चाहिए जिसके बारे में आप पूरी तरह परिचित हो 
अधिकतर उपयोग में आने वाली खाद पदार्थ सामग्री ये है: 

1  दूध : उपहास में अधिकांश दूध का सेवन ज्यादा होता है या दूध से बने पदार्थ को उपयोग में लाया जाता है जैसे छाछ , दही , पनीर ,मटका , लस्सी का सेवन किया जाता है, जिससे आपको कमजोरी महसूस न हो सके आपके शरीर में पर्याप्तय मात्रा में एनर्जी बनी रहे  

2 फल : आप ज्यादा से ज्यादा मात्रा में फल खाते हो लेकिन फल ताजे हो क्योकि ताजे फल खाने से आपके शरीर में भोजन की कमी से होने वाली कमी को पूरा किया जा सके क्योकि फलो में कई तरह के प्रोटीन व विटामिन मिल जाते है, जो आपके शरीर का संतुलन बनाये रखे जैसे संतरा, मोसम्बी, अंगूर, केला,अमरुद ,सेवफल ,अनार इन फलो को खाना चाहिए .

3  सूखे फल : आपको  बादाम , काजू ,किश्मिश, पिस्ता, अखरोट का उपयोग करना चाहिए ये आपके शरीर में ऊर्जा देते है एवं होने वाली कमज़ोरी को दूर करते है

4  आलू : आलू से बनी हुई कई खाद सामग्री जो बहुत पुरानी हो चुकी हो उनका विशेष ध्यान रखे क्योकि उपहास में अधिकतर आलू का या उससे बनी खाद सामग्री का उपयोग किया जाता है, जो हमारे शरीर की भूख को मिटाती है इससे हमारे शरीर में ऊर्जा मिलती है.