क्या 'संदेशखाली' बन रहा है दिल्ली का बाबा साहेब अंबेडकर मेडिकल कॉलेज ? छात्राएं बोली- प्रोफेसर सलीम शेख ने हमारा यौन शोषण किया ..
क्या 'संदेशखाली' बन रहा है दिल्ली का बाबा साहेब अंबेडकर मेडिकल कॉलेज ? छात्राएं बोली- प्रोफेसर सलीम शेख ने हमारा यौन शोषण किया ..
Share:

नई दिल्ली: नई दिल्ली में बाबा साहेब अंबेडकर मेडिकल कॉलेज के बाहर कॉलेज में सहायक प्रोफेसर के रूप में काम करने वाले सलीम शेख के खिलाफ छात्रों ने विरोध प्रदर्शन किया है। विरोध प्रदर्शन महिला न्याय समिति द्वारा आयोजित किया गया था, जिसमें कहा गया था कि आरोपी प्रोफेसर द्वारा कॉलेज की कई छात्राओं का यौन उत्पीड़न किया गया है।

मुख्य रूप से मेडिकल छात्राओं द्वारा लगाए गए आरोपों ने सांस्कृतिक समूहों में आक्रोश और निंदा फैला दी है। प्रदर्शनकारियों ने दावा किया कि प्रोफेसर सलीम शेख ने कॉलेज में छात्राओं का शारीरिक शोषण किया और उन्हें डराया-धमकाया। प्रदर्शनकारियों में शामिल धर्मेंद्र सूरी ने कहा कि “एक सक्रिय प्रोफेसर सलीम शेख ने बाबा साहेब डॉ भीमराव अंबेडकर अस्पताल और मेडिकल कॉलेज में छात्राओं के खिलाफ शारीरिक शोषण और धमकी का जघन्य कृत्य किया। इस घृणित कृत्य के खिलाफ समाज के सभी वर्गों में व्यापक गुस्सा और आक्रोश है।''

 

विरोध प्रदर्शन, जिसका उद्देश्य प्रभावित छात्रों के लिए न्याय की मांग करना और सामाजिक जागरूकता बढ़ाना था, ने कॉलेज के गेट नंबर 2 के बाहर एक बड़ी सार्वजनिक सभा का रूप ले लिया। संस्थान के बाहर का दृश्य तनावपूर्ण था, अनुशासन बनाए रखने के लिए बड़ी संख्या में पुलिस तैनात की गई थी। प्रदर्शनकारियों ने आरोपी प्रोफेसर सलीम शेख की आलोचना करते हुए तख्तियां ले रखी थीं और उन्हें तत्काल उनके पद से हटाने की मांग कर रहे थे। न्याय की सामाजिक मांग को प्रतिबिंबित करते हुए नारे हवा में गूंज उठे।

बताया जाता है कि विरोध प्रदर्शन तब शुरू हुआ जब कॉलेज की दो लड़कियों ने शिकायत करते हुए कहा कि 31 जनवरी को एमबीबीएस वाइवा के दौरान सलीम शेख ने उनका यौन उत्पीड़न किया। बाद में पीड़ितों ने 22 फरवरी को पुलिस में शिकायत दर्ज कराई। हालांकि प्रदर्शन कर रहे संगठनों का कहना था कि पुलिस ने मामले में कोई कार्रवाई नहीं की। मामले में कोई कार्रवाई न होने के बाद हिन्दू संगठन आगे आए और शहर में पोस्टर लगाकर कहा कि 'वे कॉलेज को संदेशखाली नहीं बनने देंगे।' राष्ट्रीय महिला आयोग (NCW) ने भी घटना का संज्ञान लिया है और मामले में तत्काल कार्रवाई की मांग की है। 

एक महिला प्रदर्शनकारी ने इस घटना पर अधिकारियों की कथित उपेक्षा का हवाला देते हुए अपनी नाराजगी व्यक्त की। उन्होंने कहा कि, 'हम इसे संदेशखाली या पश्चिम बंगाल नहीं बनने देंगे। कॉलेज में महिलाएं परेशान हैं। पुलिस को कड़ी कार्रवाई करनी चाहिए। उन्होंने मामला दर्ज किया लेकिन उसे (सलीम शेख को) जमानत पर रिहा कर दिया। सब व्यर्थ गया, हम कड़ी कार्रवाई चाहते हैं।''

संदेशखाली में क्या हुआ था ?

बता दें कि, राशन घोटाले में फरार TMC नेता शाहजहां शेख की गिरफ्तारी की मांग को लेकर स्थानीय लोगों, विशेषकर महिलाओं ने हाथों में चप्पलें लेकर संदेशखाली के विभिन्न हिस्सों में प्रदर्शन किया था। शाहजहां शेख, तलाशी लेने पहुंची ED की टीम पर हमले के बाद से फरार हो गया था। बंगाल पुलिस भी उसका कोई पता नहीं लगा पाई थी। हालाँकि, कोलकाता हाई कोर्ट की फटकार के बाद बंगाल पुलिस ने लगभग 50  दिन गिरफ्तार करने के बाद उसे गिरफ्तार किया था। हाई कोर्ट ने शाहजहां शेख की हिरासत CBI को देने के लिए कहा था, लेकिन बंगाल सरकार इसके खिलाफ सुप्रीम कोर्ट चली गई। आरोप लगाए की ममता सरकार, शाहजहां शेख को बचाने के लिए उसे बंगाल पुलिस के आधीन ही रखना चाहती है, हालाँकि सुप्रीम कोर्ट से ममता सरकार की याचिका ख़ारिज हो गई और अब आरोपी शाहजहां CBI की गिरफ्त में है। 

 

प्रदर्शन कर रहीं सैकड़ों महिलाओं ने बताया था कि शाहजहां शेख और उसके गुंडे उनका यौन शोषण करते हैं, घरों से महिलाओं को उठा ले जाते हैं और मन भरने पर छोड़ जाते हैं। महिलाओं का कहना था कि, यहाँ रेप और गैंगरेप आम बात है। TMC के गुंडे अपनी महिला कार्यकर्ताओं को भी नहीं छोड़ते, उन्हें अकेले मीटिंग में बुलाते हैं, धमकी देते हैं कि नहीं आई तो तुम्हारे पति को मार डालेंगे। प्रदर्शन कर रहीं महिलाओं ने बताया था कि, उन्हें (TMC के गुंडों को) जो भी महिला पसंद आ गई, उसे वो घर से उठा ले जाते हैं और रात भर भोगकर, सुबह घर भेज देते हैं। पश्चिम बंगाल की पुलिस TMC के गुंडों की ढाल बन जाती और पीड़ितों को ही दबाती है। एक महिला ने तो मीडिया से बात करते हुए यहाँ तक दावा किया था कि, TMC के गुंडे घरों के सामने आकर कहते हैं कि 'बाहर निकल आज तेरे साथ सामूहिक बलात्कार करेंगे।' ये कहते हुए गुंडे उसे पति और पुलिस के सामने खींच कर ले गए, लेकिन कोई नहीं बचा सका। 

10वीं-12वीं छात्रों के लिए आया नया अपडेट, इन विषयों में मिलेंगे बोनस अंक

हमीदुल इस्लाम ने हिन्दू नाम बताकर लड़की को फांसा, 5 बार जबरन कराया गर्भपात, ठगे 12 लाख

ऑस्ट्रेलिया की धरती पर 5 टेस्ट खेलने जाएगी टीम इंडिया, जानिए कैसा रहा है पुराना रिकॉर्ड

रिलेटेड टॉपिक्स