चंद्रशेखर वेंकटरमन ने पूरे विश्व को दी थी रमन इफेक्ट थ्योरी

चंद्रशेखर वेंकटरमन अर्थात सीवी रमन एक ऐसे वैज्ञानिक थे, जिनके नाम पर पड़ी थ्योरी पूरे विश्व में रमन इफेक्ट के नाम से आज भी पहचानी जाती है। सीवी रमन का जन्म आज ही के दिन यानी 7  नवंबर 1888 को  तमिलनाडु के तिरुचिरापल्ली में हुआ था। सीवी रमन का निधन 21 नवंबर 1970 को बेंगलुरू में हुआ था। उन्होंने फिजिक्स में कई प्रयोग किए। रोशनी के बिखराव को लेकर किए गए प्रयोगों पर रमन को 1930 मे नोबेल पुरस्कार दिया गया था। आज हम उनके जन्मदिन पर आपको बता रहे हैं उनके बारे में कुछ खास बातें...

विज्ञान में नोबेल पाने वाले पहले भारतीय: सीवी रमन विज्ञान के क्षेत्र में नोबेल पाने वाले पहले भारतीय थे। रमन को पूरा भरेासा था कि उन्हें नोबेल पुरस्कार मिलेगा ही। इसलिए नोबेल पुरस्कारों की घोषणा होने से चार दिन पहले ही उन्होंने स्वीडन जाने की तैयारी कर ली थी। कहा जाता है कि रमन ही वह वैज्ञानिक हैं, जिनकी खोज के आधार पर ही हम  जानते हैं कि रोशनी का बिखराव कैसे होता है। 

खोज पर मनाया जाता है नेशनल साइंस डे: सीवी रमन की एक खोज के दिन को ही भारत में नेशनल साइंस डे के तौर पर मनाया जाता है। दरअसल 28 फरवरी 1928 को रमन इफेक्ट की खोज हुई और इस दिन को ही नेशनल साइंस डे मनाया जाता है। रमन ऐसे वैज्ञानिक थे, जिन्होंने भारत का नाम  विज्ञान के क्षेत्र में पूरी दुनिया में प्रसिद्ध किया। 

NZ vs AFG के मैच से पहले सोशल मीडिया पर वायरल हुए मजेदार मिम्स

Q2FY22 में वास्तविक जीडीपी में हो सकती है इतने प्रतिशत की वृद्धि

इंटीग्रल कोच फैक्ट्री आने वाले साल शुरू कर सकता है तीसरी वंदे भारत ट्रैन

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -