कश्मीर के युवाओं में ज़हर भर रहा आतंकी हाफ़िज़

श्रीनगर: भारत की ख़ुफ़िया एजेंसियों ने सीमा पर पाकिस्तान एजेंसी आईएसआई के कैंपो की जानकारी निकाल कर उसकी हकीकत का खुलासा किया है,  जिसमे पता चला है कि पाक एजेंसी ने आतंकी हाफिज सईद के साथ मिलकर नए ठिकानों पर ट्रेनिंग कैंप खोले हैं. ख़ुफ़िया एजेंसियों ने बताया है कि आतंक का सरगना हाफ़िज़ सईद, पाकिस्तान की एजेंसी आईएसआई की पनाह में आतंकियों को ट्रेनिंग दे रहा है.

ये कैम्प आईएसआई और हाफिज़ ने मिलकर POK के बोई, मदारपुर, फगोश और देवलियां में खोले हैं. रिपोर्ट के मुताबिक भारतीय सेना द्वारा जम्मू कश्मीर में आतंकियों के खिलाफ चलाए जा रहे ऑपरेशन आल-आउट से आतंक के सरगना और उनका पनाहगाह देश पाकिस्तान बौखला गया है और अपनी आतंकी ताक़त में इज़ाफ़ा करने की फ़िराक़ में है. 

इसीलिए हाफ़िज़ सईद ने कश्मीर के युवाओं में धर्म के नाम पर ज़हर भरकर उन्हें भारत के खिलाफ उकसाने का अभियान चलाया है. लश्कर-ए-तय्यबा ने कश्मीर में मौजूद अपने कमांडरों से ज्यादा से ज्यादा नए लोगों को भर्ती करने को कहा है. लश्कर ने ISI की मदद से कश्मीर में घुसपैठ के लिए नए सुरक्षित इंफिल्ट्रेशन रूट की प्लानिंग की है. जिसके जरिए आसानी से घुसपैठ कराई जा सके.आईएसआई ने सिर्फ लश्कर के लिए ही नहीं बल्कि हिजबुल मुजाहिदीन के आतंकियों की भर्ती के लिए भी आतंक का टैलेंट हंट शुरू किया है. वहीँ  आईएसआई ने हिजबुल मुजाहिदीन के चीफ सैय्यद सलाउद्दीन को POK में ट्रेनिंग कैंप में ट्रेनिंग देने से रोक दिया है. क्योंकि अब सैय्यद सलाउद्दीन से आईएसआई का विश्वास उठ गया है, इसलिए खुद ISI अपनी कमांड में आतंकियों की भर्ती और ट्रेनिंग शुरू कर रही है.

जम्मू में नेता पर आतंकवादियों ने की गोलीबारी

भूकंप से दहला कश्मीर, घरों से निकले लोग

श्रीनगर में भीषण आग, 7 घर जलकर खाक

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -