ये 5 बातें जो आपको बना सकती हैं थाइराइड का शिकार

ये 5 बातें जो आपको बना सकती हैं थाइराइड का शिकार

थाइराइड शरीर की एक महत्वपूर्ण ग्रंथि होती है जो की थाइरॉक्सिन हार्मोन का स्राव करती है और शरीर के सभी हिस्सों की कार्यप्रणाली को नियंत्रित करती है. आपको बता दें, थाइरॉक्सिन हार्मोन का स्तर जरुरत से ज्यादा कम और जरुरत से ज्यादा अधिक होने पर कई प्रकार की स्वास्थ्य समस्याएं पैदा हो जाती है.  गले में इस तरह की परेशानी कई कारणों से हो सकती है. आपकी कुछ आदतें आपकी थाइराइड ग्रंथि के स्वास्थ्य पर बुरा असर डालती है जिससे हार्मोन बैलेंस बिगड़ जाता है और आपको थाइराइड की समस्या हो सकती है. तो इन बातों से दूर ही रहें ताकि आपको कोई परेशानी ना हो. 

1.स्मोकिंग- स्मोकिंग के कारण शरीर में जाने वाला तंबाकू थाइरॉइड ग्रंथि की सेहत पर बुरा असर डालता है इसलिए स्मोकिंग करना बंद कर देना ही स्वास्थ्य के लिए बेहतर होता है.

2. खान-पान सही ना होना- अस्वास्थ्यवर्धक खाद्य पदार्थों का सेवन करने से और योग-व्यायाम ना करने से थाइरॉइड के स्वास्थ्य पर बेहद बुरा असर पड़ता है. अपनी लाइफस्टाइल को बेहतर बनाने का प्रयास करें ताकि आपको थाइरॉइड की समस्या ना हो.

3. तनाव- बहुत अधिक तनाव भी अनेक स्वास्थ्य समस्याएं पैदा कर देता है जिसमें से थाइरॉइड का अस्वस्थ होना एक भी एक परेशानी बन जाती है. तनाव के कारण हाइपरथाइराइडिज्म और हाइपोथायरायडिज्म दोंनो प्रकार की समस्याएं पैदा हो जाती है.

4. ग्लूटन युक्त खाद्य पदार्थों का सेवन- ग्लूटन युक्त खाद्य पदार्थों का सेवन थाइरॉइड की सेहत पर नकारात्मक असर डालता है इससे मेटाबॉलिज्म संबंधी समस्याएं पैदा हो जाती साथ ही सूजन की परेशानी भी पैदा हो जाती है. यहीं कारण है ग्लूटन फ्री खाद्य पदार्थों का सेवन करना सेहत के लिए लाभकारी होता है.

5. आयोडीन का सही मात्रा में सेवन ना करना- डाइट में सही मात्रा में आयोडीन का सेवन ना करने से हाइपरथाइराइडिज्म और हाइपोथायरायडिज्म दोंनो प्रकार की समस्याएं पैदा हो जाती है इसलिए सही मात्रा में आयोडीन का सेवन करना सेहत के लिए बेहतर होता है.

पोटैशियम की कमी से शरीर में होती है कई परेशानियां

इन कारणों से होता है Color Blindness, नहीं होती रंगों की पहचान

सोते समय हो जाते हैं हाथ सुन्न तो गंभीर हो सकता है कारण