पुलिस को चकमा देकर भागे हार्दिक, कोर्ट ने कहा : कल तक पेश करो

अहमदाबाद : हाईकोर्ट ने पाटीदार अनामत आंदोलन समिति (पीएएएस) के संयोजक हार्दिक पटेल के वकील से हार्दिक को गुरुवार तक पेश करने को कहा है. इससे पहले वकीलों ने आरोप लगाया कि पुलिस ने अवैध रूप से हार्दिक पटेल को हिरासत में ले लिया है. उनके वकील बीएम मंगुकिया ने बताया कि हमें हार्दिक के बारे में कुछ भी पता नहीं है. हमें पता चला है कि पिछले 2 दिनों से उन्हें और उनके समर्थकों को डरा धमकाकर आंदोलन बंद करने के लिए दबाव बनाया जा रहा है. वकीलों ने मंगलवार देर रात को हाईकोर्ट में याचिका दायर की. जिस पर देर रात ढाई बजे सुनवाई करते हुए कोर्ट ने कहा कि हार्दिक को 24 सितंबर से पहले पेश करने के आदेश दिए.

गौरतलब है कि पटेल समुदाय के लिए आरक्षण की लड़ाई लड़ने वाले हार्दिक पटेल ने मंगलवार को पुलिस को तब चकमा दे दिया जब पुलिस उसे अरवली जिले के एक गांव में बिना अनुमति जनसभा आयोजित करने के खिलाफ गिरफ्तार करने पहुची थी. पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि हार्दिक के द्वारा तेनपुर गांव में एक सभा को संबोधित किये जाने के बाद पुलिस ने उन्हें हिरासत में लेने की कोशिश की लेकिन वह एक गाड़ी में वहाँ से भाग निकले.

उन्होने बताया कि हार्दिक ने बिना पूर्व अनुमति लिए मंगलवार को बायद तालुका के तेनपुर गांव में एक जनसभा आयोजित की. जब पुलिस को इस बारे में मालूम पड़ा तो पुलिस बल उसे गिरफ्तार करने वहाँ पहुंचा लेकिन वह पुलिस को चकमा देकर वहां से भाग निकला.

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -