एक नदी जो उगलती है सोना

रामगढ़: कहा जाता है कि नदी हमारी जीवन रेखा होती है। नदियों से ही हमारी संस्कृति और धर्म भी जुड़ा होता है। ऐसी पवित्र नदियों से हमें जीवनदायी जल मिलता है मगर क्या ये नदियां सोना भी देती हैं। आप कहेंगे कि हां, रेत के तौर पर तो यह कारोबारियों के लिए सोना ही देती है लेकिन हम तो असल सोने की बात कर रहे हैं। जी हां, भारत में एक ऐसी नदी है जो सोना उगलती है। झारखंड के रामगढ़ में बहने वाली इस नदी को स्वर्ण रेखा कहा जाता है। यह रांची से लगभग 16 किलोमीटर दूर से निकलती है।

यही नहीं स्वर्ण रेखा और इसकी सहायक नदी करकरी की रेत में सोने के कण मिले होते हैं। कहा जाता है कि इस नदी में सोने के कण करकरी नदी से ही निकलकर मिलते हैं। इस नदी की लंबाई करीब 37 किलोमीटर है। यह एक छोटी नदी है।दरअसल इस नदी की जलधारा चट्टानों से होते हुए बहती है ऐसे में यह अपने साथ सोने के कण भी बहाकर ले जाती है।आदिवासियों द्वारा पानी से सोने के कण तराशकर इसे सुनारों और अन्य लोगों को बेचा जाता है। इन कणों को बेचने वाले सुनार अभी तक करोड़ों की कमाई कर चुके हैं। 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -