Share:
यूनेस्को की विरासत सूची में शामिल हुआ गरबा
यूनेस्को की विरासत सूची में शामिल हुआ गरबा

संयुक्त राष्ट्र की शीर्ष इकाइयों में शामिल- यूनेस्को ने गुजरात के पारंपरिक गरबा डांस को सांस्कृतिक धरोहर भी कहा गया है। यूनेस्को ने हाल ही में गरबा डांस को विश्वभर में गौरवशाली उपलब्धि मानी जाने वाली सूची में जोड़ लिया है। इसी को लेकर फेडरेशन ऑफ इंडियन एसोसिएशन (एफआईए) एनवाई-एनजे-सीटी-एनई ने कई सामुदायिक संगठनों और न्यूयॉर्क में भारतीय महावाणिज्य दूतावास के समर्थन के साथ 'क्रॉसरोड्स ऑफ द वर्ल्ड' में एक स्मारक गरबा समारोह को आयोजन करने का फैसला कर लिया है। 

यहा है गरबा लोकप्रिय: खबरों का कहना है कि 'गरबा' गुजरात, महाराष्ट्र और राजस्थान सहित भारत के प्रमुख राज्यों में एक बहुत ही लोकप्रिय समूह लोक नृत्य है। अक्सर नवरात्रि के दौरान गरबा उत्सव सेलिब्रेट किया जाता है। इसकी लोकप्रियता देश ही नहीं बल्कि विदेशों में बहुत है। इसे संयुक्त अरब अमीरात (दुबई), संयुक्त राज्य अमेरिका, ब्रिटेन, ऑस्ट्रेलिया, कनाडा और कई अन्य देशों में प्रवासी भारतीय प्रवासियों के मध्य बहुत पसंद किया गया है। गौरतलब है कि गरबा डांस को UNESCO की सूची में शामिल करने के लिए नॉमिनेट किया था। बुधवार को यूनेस्को के फैसले के बाद गुजरात के सीएम ने कहा था कि गरबा के रूप में देवी मां की भक्ति की सदियों पुरानी परंपरा न केवल जीवित है, बल्कि इसे आगे भी बढ़ाया जा रहा है। 

छह दिसंबर को किया था:  बता दें कि  मंगलवार को दक्षिण अफ्रीकी देश बोत्सवाना में अमूर्त सांस्कृतिक विरासत की सुरक्षा के लिए बनाई गई यूनेस्को की अंतर सरकारी समिति की 18वीं बैठक को शुरू किया गया। इस बीच अमूर्त सांस्कृतिक विरासत (Intangible Cultural Heritage या आईसीएच) की सुरक्षा के लिए 2003 कन्वेंशन के अंतर्गत गरबा डांस को यूनेस्को की सूची में शामिल करने का एलान भी कर दिया गया। इस फैसले के उपरांत उत्सव को बड़े ही उत्साह के साथ मनाया गया। इस समारोह में भाग लेने वालों को मुफ्त में यात्रा, जलपान और भागीदारी प्रमाण पत्र प्रदान किए गए थे। यह कार्यक्रम गुजरात की समृद्ध सांस्कृतिक विरासत का एक अनूठा उदाहरण था, क्योंकि उपस्थित लोगों ने पारंपरिक गरबा पोशाक भी पहन रखी थी ।

अमूर्त विरासत सूची में: यूनेस्को ने बुधवार को एक सोशल मीडिया पोस्ट में इंडिया को बधाई देते हुए लिखा कि अमूर्त विरासत सूची पर नया शिलालेख: गुजरात का गरबा। इस समारोह में शामिल होने के लिए एफआईए ने पूरे भारतीय अमेरिकी समुदाय को एक खुला आमंत्रण भेजा। कार्यक्रम को आयोजित करने के लिए न्यूयॉर्क में भारत के महावाणिज्य दूतावास ने भी अपना सहयोग भी प्रदान किया। इस बीच, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को यूनेस्को द्वारा 'गरबा' को अमूर्त विरासत घोषित किए जाने की तारीफ की।

इतने समय के लिए केंद्र सरकार ने लगाया प्याज के निर्यात पर प्रतिबंध

विवादों में घिरी एनिमल फिल्म, संसद में बोली मह‍िला MP- ;आखिर इतना वायलेंस और महिलाओं के साथ छेड़छाड़ क्यों?'

विधायक बनने वाले सबसे गरीब उम्मीदवार ने CM शिवराज के सामने जताई मंत्री बनने की इच्छा, बोले- 'मैं पढ़ा लिखा हूं और...'

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -