हिन्दुओं-सिखों को मुस्लिम बनाने के लिए दुबई से आता था पैसा, धर्मान्तरण रैकेट में मिले अहम सुराग

नई दिल्ली: धर्मांतरण के मामले में जांच कर रही यूपी ATS को विदेशी फंडिंग के मामले में अहम सुराग मिले हैं. धर्मांतरण के मामले में अरेस्ट हो चुके नौ आरोपियों से पुलिस हिरासत में हुई पूछताछ के बाद पता चला है कि उमर गौतम (Umar Gautam) के मुख्य फाइनेंसर सलाउद्दीन को दुबई से फंड डाइवर्ट करते भेजा जा रहा था. धर्मांतरण में फंडिंग के इस रैकेट के कनेक्शन केरल से भी जुड़ गए हैं.

इस्लामिक दावा सेंटर को ऑपरेट करने वाले उमर गौतम को फंडिंग दुबई में बैठा मुस्तफा शेख नामक शख्स कर रहा था. यूपी ATS को उमर गौतम, नागपुर से पकड़े गए प्रकाश कावरे उर्फ एडम, भू प्रियबन्दों उर्फ अर्सलान मुस्तफा और बड़ौदा से पकड़े गए सलाउद्दीन के बैंक अकाउंट खंगालने के बाद यह जानकारी मिली है. सूत्रों के अनुसार, अवैध धर्मांतरण के इस रैकेट में फंडिंग की चेन बड़ौदा, नागपुर, दिल्ली से लेकर केरल तक जा रही है. दुबई में बैठा मुस्तफा शेख, सलाउद्दीन को डायरेक्ट फंडिंग कर रहा था. सलाउद्दीन के माध्यम से ही विदेशी फंडिंग की रकम उमर गौतम और भू प्रियबन्दों के अकाउंट में पहुंच रही थी. 

सलाउद्दीन ने कई दफा रकम उमर गौतम के बैंक अकाउंट में डायरेक्ट भेजी है, तो कई बार सलाउद्दीन ने उमर गौतम की संस्था इस्लामिक दावा सेंटर को यह रकम केरल के नदवातुल मुजाहिद्दीन के बैंक खातों के माध्यम से भेजी है. यही नहीं बड़ौदा में बैठ कर सलाउद्दीन महाराष्ट्र में अवैध धर्मांतरण को अभियान के तहत चला रहे भू प्रियबन्दों उर्फ अर्सलन मुस्तफा को भी धन मुहैया करा रहा था.

पाकिस्तान के कराची में चीनी नागरिकों पर बंदूक से किया गया हमला

अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष ने भारत की वृद्धि दर का अनुमान घटाकर किया इतने प्रतिशत

29 जुलाई को शिक्षा समुदाय को संबोधित करेंगे पीएम मोदी

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -