9 घंटे की रस्साकशी के बाद आखिरकार पकड़ा ही गया बाघ

भोपाल। मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल से लगते हुए कलियासोत में पिछले कई माह से दो बाघ विचरण करने की खबर थी व इनमे से एक बाघ भोपाल शहर के नवी बाग की बस्ती में आ धमका जिसे वन विभाग की टीम ने पकड़ लिया है. बता दे की यह बाघ केंद्रीय कृषि अभियांत्रिकी संस्थान परिसर में पहुंच गया था. तथा जब इस बात की खबर आसपास के लोगो तक पहुंची तो वहां पर इसे देखने के लिए लोगो की अत्यधिक भीड़ इकट्ठा हो गई थी. पुलिस ने लोगो को वहां से खदेड़ा. यह बाघ परिसर की छत पर आराम से सो रहा था.

इस बात की सुचना जब वन विभाग को दी गई तो वे दल बल के साथ बाघ को पड़कने के लिए पहुंचे परन्तु बाघ को जब दल ने अपने द्वारा लाइ गई गन के द्वारा उस पर फायर करने की कोशिश की गई तो वह बाघ तक नही पहुँच पा रही थी फिर दल ने हाईड्रोलिक मशीन बुलाई गई.

इस दौरान वहां पर लोगो की काफी भीड़ एकत्रित हो गई थी तथा मौके पर स्थानीय विधायक विश्वास सारंग भी पहुंच गए थे जो की लोगो को इसके लिए सतर्क रहने की लिए कह रहे थे.

तथा खबर है की वन विभाग की टीम के तकरीबन नौ घंटे के अथक प्रयासों के द्वारा बाघ को गन के द्वारा बेहोश करके काबू में कर लिया गया. वन विभाग ने कहा की यह बाघ पीटी-1 है जिसे की जून में रायसेन जिले में स्थित गीदगढ़ के जंगलों में घूमता पाया गया था जो की घूमते-घूमते यहां भोपाल तक आ पहुंचा.  

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -