Share:
वेडिंग सीजन में पेट से जुड़ी कोई दिक्कत से छुटकारा पाने के लिए अपनाएं एक्सपर्ट की ये ट्रिक्स
वेडिंग सीजन में पेट से जुड़ी कोई दिक्कत से छुटकारा पाने के लिए अपनाएं एक्सपर्ट की ये ट्रिक्स

शादी का मौसम खुशी और उत्सव का समय होता है, लेकिन कई लोगों के लिए यह पाचन संबंधी समस्याएं भी लेकर आता है। गैस की परेशानी से लेकर कब्ज तक, ये समस्याएं त्योहार के उत्साह को फीका कर सकती हैं। आयुर्वेदिक विशेषज्ञ इन चिंताओं को दूर करने और एक आरामदायक और सुखद शादी का अनुभव सुनिश्चित करने के लिए बहुमूल्य सुझाव देते हैं।

अपने दिन की सही शुरुआत करें:
अपने दिन की शुरुआत गुनगुने पानी में शहद और नींबू मिलाकर पीने से करें। यह मिश्रण शरीर से विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालने में मदद करता है। इसके लाभों को अधिकतम करने के लिए यह सुनिश्चित करना आवश्यक है कि पानी गर्म न हो, गर्म हो। सुबह का जलयोजन पूरे दिन के लिए सकारात्मक माहौल तैयार करता है।

भोजन पूर्व अनुष्ठान:
मुख्य भोजन में उतरने से पहले, विशेषज्ञ कच्चे सलाद या हल्के सूप का सेवन करने की सलाह देते हैं। यह अभ्यास न केवल पाचन में सहायता करता है बल्कि यह भी सुनिश्चित करता है कि पेट पर तुरंत भारी भोजन का बोझ न पड़े। अपने भोजन से पहले की दिनचर्या में कच्ची सब्जियाँ या पौष्टिक सूप शामिल करना समग्र स्वास्थ्य में योगदान देता है।

छोटी प्लेटें चुनें:
भोजन के दौरान स्वयं परोसते समय छोटी प्लेटें चुनें। यह सरल युक्ति भाग नियंत्रण में मदद करती है और अधिक खाने से रोकती है। इसके अतिरिक्त, धीरे-धीरे खाएं और अपने भोजन को अच्छी तरह चबाएं। खाने के प्रति यह सचेत दृष्टिकोण बेहतर पाचन और पोषक तत्वों के अवशोषण को बढ़ावा देता है।

भोजन के बाद सौंफ़:
भोजन के बाद एक चम्मच सौंफ का सेवन करें। सौंफ अपने पाचन गुणों के लिए जानी जाती है और भोजन के बाद होने वाली परेशानी को कम करने में मदद कर सकती है। यह प्राकृतिक उपचार त्वरित पाचन में सहायता करता है और आपके भोजन अनुभव को समाप्त करने का एक स्वादिष्ट तरीका है।

पाचन राहत के लिए सीसीएफ चाय:
पाचन स्वास्थ्य को बढ़ावा देने के लिए जीरा, धनिया और सौंफ (सीसीएफ) के बीजों से बनी हर्बल चाय एक उत्कृष्ट विकल्प है। यदि आपको सूजन का अनुभव होता है, तो सीसीएफ चाय को अपनी दिनचर्या में शामिल करने पर विचार करें। यह मिश्रण पाचन तंत्र पर अपने सुखदायक प्रभावों के लिए जाना जाता है।

आभार व्यक्त करें, असुविधा नहीं:
भोजन के बाद शर्मिंदगी या असुविधा की भावना से बचें। इसके बजाय, आपने जो भोजन खाया उसके लिए आभार व्यक्त करें। अपने भोजन के प्रति सचेत रहना और इसकी तैयारी में किए गए प्रयास की सराहना करना आपके समग्र पाचन अनुभव पर सकारात्मक प्रभाव डाल सकता है।

शादी के मौसम में इन आयुर्वेदिक युक्तियों को अपनी दिनचर्या में शामिल करके, आप एक स्वस्थ पाचन तंत्र को बढ़ावा दे सकते हैं और बिना किसी चिंता के उत्सव का आनंद ले सकते हैं। अपने दिन की शुरुआत गर्म पानी, खान-पान में सावधानी और हर्बल उपचार के साथ करने से इस बात में महत्वपूर्ण अंतर आ सकता है कि आपका पेट उत्सव के पाक आनंद को कैसे संभालता है। तो, इन प्रथाओं को अपनाएं और शादी के मौसम का भरपूर आनंद लें!

सर्दियों में बच्चे को बनाकर खिलाएं रागी का दलिया, शरीर रहेगा गर्म

सबरीमाला के श्रद्धालुओं को शौचालय के पानी में पका हुआ भोजन खिला रहा था अब्दुल, अय्यपा सेवा संघ ने रंगे हाथों पकड़ा, Video

बहुत ज्यादा एंटीबायोटिक दवाओं का सेवन लिवर को नुकसान पहुंचा सकता है, जानिए कब ही लेना चाहिए?

 

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -