किसान आंदोलन खत्म का ऐलान, दिल्ली बॉर्डर से वापस लौटेंगे आंदोलनकारी

नई दिल्ली: एक साल से जारी किसान आंदोलन अब खत्म हो चुका है। आप सभी को बता दें कि आज संयुक्त किसान मोर्चा ने इस बात का ऐलान किया है। हालाँकि इस ऐलान के पहले मोर्चा ने लंबी बैठक की, जिसके बाद घर वापसी पर फैसला लिया गया। हाल ही में किसान नेता बलवीर राजेवाल ने कहा, 'हम सरकार को झुकाकर वापस जा रहे हैं।'

इसी के साथ उन्होंने यह भी बताया कि, '15 जनवरी को किसान मोर्चा की फिर बैठक होगी, जिसमें आगे की रणनीति पर चर्चा होगी।' इसके अलावा यह भी कहा गया है कि किसान वापसी के ऐलान के बाद 11 दिसंबर से दिल्ली बॉर्डर से लौटेंगे। वहीं अब दिल्ली की सीमाओं पर डटे किसानों ने भी 'घर वापसी' की तैयारी शुरू कर दी है।जी दरअसल सिंघु-कोंडली बॉर्डर पर पिछले एक साल से डटे किसान अब लौट रहे हैं। आज किसानों ने बॉर्डर पर बनाए अपने टेंट को उखाड़ना शुरू कर दिया है और तिरपाल, बिस्तर को ट्रकों-ट्रैक्टरों में रखना शुरू कर दिया है। अब किसानों का यह कहना है कि सरकार ने उनकी मांगों को मान लिया है, इसलिए अब वो वापस लौट रहे हैं। दूसरी तरफ पंजाब के 32 किसान संगठनों ने घर जाने का प्रस्ताव रखा है।

जी दरअसल पंजाब के किसान 11 दिसंबर से घर वापसी शुरू करेंगे। प्रस्ताव को माने तो किसान 11 दिसंबर को बॉर्डर से निकलेंगे और 13 दिसंबर को अमृतसर के हरमिंदर साहिब पहुंचेंगे। इसी के साथ किसान संगठनों ने टोल प्लाजा को भी मुक्त करने का प्रस्ताव किया है। आपको बता दें कि पिछले साल सितंबर से ही किसान संगठनों ने पंजाब के सभी टोल प्लाजा को फ्री कर दिया था।

टीवी के इस मशहूर अभिनेता के घर आया नन्हा मेहमान

मौनी रॉय के साथ भीड़ में शख्स ने कर डाली ऐसी हरकत कि डर के मारे बुरा हुआ एक्ट्रेस का हाल

रोहिणी कोर्ट में क्रूड बम से ब्लास्ट, मिली IED और टिफिन जैसी चीज

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -