किसान आत्महत्या पर जांच के दिए आदेश, व्यक्त की संवेदना

Apr 23 2015 01:50 PM
किसान आत्महत्या पर जांच के दिए आदेश, व्यक्त की संवेदना
style="text-align: justify;">नई दिल्ली : केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह दिल्ली में हाल ही में किसान गजेंद्र द्वारा की गई आत्महत्या पर संवेदना व्यक्त की है। इस दौरान उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर से भी वे अपनी संवेदना व्यक्त करते हैं। इस दौरान केंद्रीय गृहमंत्री श्री सिंह ने पूरे घटनाक्रम का ब्यौरा देते हुए कहा कि इस तरह के मामलों में जब शोर, ताली बजाना, भाषण जारी रहे जबकि ऐसे मामलों में आत्महत्या के लिए प्रेरित व्यक्ति का ध्यान बंटाया जाता है, उसे हिम्मत दी जाती है। 

उन्होंने बताया कि मामले में पुलिस आयुक्त को जांच के निर्देश दे दिए गए हैं। उन्होंने किसान गजेंद्र के परिजन के प्रति भी अपनी संवेदना व्यक्त की है। इस मसले पर किसी भी तरह से राजनीति नहीें होना चाहिए। यह एक शर्मनाक और दुर्भाग्यपूर्ण है। जब तक हिंदुस्तान का किसान धनवान नहीं होगा अन्य वर्ग धनवान नहीं हो सकता। किसानों के हित में गंभीरता से विचार करने की जरूरत है। 

अब विकास दर अर्थात् जीडीपी में कृषि क्षेत्र की भागीदारी 14 प्रतिशत है। वर्तमान में 50 प्रतिशत जनसंख्या फूड सिक्योरिटी पर निर्भर रहने के लिए मजबूर है। यह एक बेहद गंभीर बात है। कृषि क्षेत्र में होने वाले प्रयोगों पर ध्यान देने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि गांव और किसान की हालत सुधारे जाने की जरूरत है। गृहमंत्री श्री सिंह ने सदन को आश्वस्त किया कि डब्ल्यूटीए में खाद्य सुरक्षा के स्तर पर सरकार किसी भी तरह का समझौता करने के लिए तैयार नहीं है। प़क्ष और प्रतिपक्ष को बैठकर विचार करने की जरूरत है।