ब्रैस्ट एनलार्जमेंट के लिए क्रीम नहीं, एक्सरसाइज है फायदेमंद

ब्रैस्ट एनलार्जमेंट के लिए क्रीम नहीं, एक्सरसाइज है फायदेमंद

आजकल हर लड़की एक परफेक्ट फिगर चाहती है और इसके लिए वो मेहनत की जगह मार्केट प्रोडक्ट्स पर ज्यादा यकीन रखती हैं। ब्रैस्ट एक ऐसा पार्ट है जिसकी साइज को लेकर अक्सर युवतियां काफी चिंतित रहती है. छोटी साइज़ से जूझ रही युवतियां अक्सर ब्रैस्ट एनलार्जमेंट करेंस या फिर अन्य इक्विपमेंट्स की तरफ आकर्षित होती है जो कि एकदम गलत है. हर चीज नेचुरल वे में ग्रो हो सकती है। जैसे कि जब आपका वजन बढ़ता हैं तो धीरे धीरे आपके स्तनों का आकर भी बढ़ता हैं।

आपको ऐसा लगता हैं की आपके स्तन बहुत ही धीमी गति से बढ़ रहे हैं तो आप डॉक्टर से हार्मोन्स लेवल टेस्ट करवा सकते हैं. बहुत सी ऐसी एक्सरसाइज हैं जिकी मदद से आपके स्तनों की वृद्धि हो सकती है । पुश-अप्स काफी अच्छी एक्सरसाइज है। अपने पैरो को फर्श पर सीधा रखे और हथेली की सहायता से स्वयं को ऊपर उठाइए और धीरे धीरे निचे लाइए। ऐसा कम से कम 13 से 14 बार दोहराए और आप अपने हाथों और छाती को मज़बूत और स्वस्थ महसूस करेंगे।

चेस्ट प्रेसेस डम्बल्स या वज़न को दोनों तरफ रखकर और ऊपर उठाकर किया जा सकता है। चटाई पर सीधे खड़े हो जाइये और दोनों घुटनों को मोड़िये और दोनों हाथों में वज़न लीजिये। धीरे से उन्हें आपके कन्धों के स्तर तक उठाइए और फिर वापस पुरानी स्थिति में लाइए। यह दिन में 10-15 बार दोहराइए और आप आसानी से परिवर्तन देख सकते हैं। चेस्ट कॉन्ट्रेक्शन में अपने पैरो को कुल्हो के बराबर दुरी पर रख कर सीधे खड़े हो जाइये। तोलिये के दोनों छोर पकडिये और अपने हाथो को सीधा फैलाईये तोलिये के छोरो को विपरीत दिशाओ में दोनों हाथो में खिचिये।

आप 30 सेकंड से 1 मिनट तक रुक सकते है और यह व्यायाम 3 बार करे। चेस्ट फ्लाइज आपके घर बिना अधिक प्रयास के किया जा सकता है। कुर्सी के बीचो बिच बैठ जाइये और हाथो से बराबर वजन उठाइए। अपने हाथो वजन सहित सीधा कंधे के स्तर तक उठाइए और धीरे से निचे लाइए, ध्यान रखिये के आपके हाथ आपस में पास होने चाहिए। और आपके निचले शरीर के तरफ हाथो का फेस होना चाहिए। यह एक्सरसाइज एक दिन में 12 बार और 3 सेट में करे।