Share:
एशियन पेंट्स के दूरदर्शी नेता अश्विन दानी का 79 साल की उम्र में निधन
एशियन पेंट्स के दूरदर्शी नेता अश्विन दानी का 79 साल की उम्र में निधन

नई दिल्ली: एशियन पेंट्स के गैर-कार्यकारी निदेशक अश्विन दानी का गुरुवार को 79 वर्ष की आयु में निधन हो गया, जिससे भारतीय पेंट उद्योग में एक युग का अंत हो गया। 23 जून, 2021 को कंपनी द्वारा आधिकारिक तौर पर दीपक सातवलेकर को बोर्ड का अध्यक्ष नियुक्त करने के बाद दानी ने एशियन पेंट्स के निदेशक मंडल में एक गैर-कार्यकारी निदेशक के रूप में काम करना जारी रखा। अश्विन दानी के निधन की घोषणा एशियन पेंट्स ने एक स्टॉक एक्सचेंज में की थी। दाखिल करते हुए उनके निधन पर गहरा अफसोस जताया। कंपनी के बयान में उनके महत्वपूर्ण योगदान पर प्रकाश डालते हुए कहा गया, "श्री अश्विन दानी 1968 से कंपनी के साथ जुड़े हुए थे और कंपनी को तकनीकी उत्कृष्टता की ओर ले जाने में एक मजबूत ताकत रहे हैं।"

एशियन पेंट्स के साथ दानी की शानदार यात्रा 1968 में शुरू हुई, जब वह 1942 में अपने पिता और तीन अन्य लोगों द्वारा स्थापित कंपनी में शामिल हुए। इन वर्षों में, उन्होंने कंपनी के नेतृत्व में महत्वपूर्ण भूमिकाएँ निभाईं। दिसंबर 1998 और मार्च 2009 के बीच, दानी ने एशियन पेंट्स में उपाध्यक्ष और प्रबंध निदेशक का पद संभाला। उनके दूरदर्शी नेतृत्व ने कंपनी को अपने वैश्विक परिचालन का विस्तार करने में मदद की, जिससे वैश्विक पेंट उद्योग में एक प्रमुख खिलाड़ी के रूप में अपनी स्थिति मजबूत हुई। विशेष रूप से, उन्होंने भारत के पहले कम्प्यूटरीकृत रंग मिश्रण कार्यक्रम को शुरू करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई, एक मील का पत्थर जिसने देश में पेंट उद्योग में क्रांति ला दी।

अश्विन दानी की शैक्षिक पृष्ठभूमि उत्कृष्टता से चिह्नित थी। उन्होंने मुंबई विश्वविद्यालय के विज्ञान संस्थान से विज्ञान स्नातक की डिग्री हासिल की। बाद में, उन्होंने ओहियो के एक्रोन विश्वविद्यालय से पॉलिमर विज्ञान में मास्टर डिग्री हासिल की और ट्रॉय, न्यूयॉर्क में रेंससेलर पॉलिटेक्निक से रंग विज्ञान में डिप्लोमा पूरा किया। उनके अंतर्राष्ट्रीय प्रदर्शन में एशियन पेंट्स में शामिल होने से पहले संयुक्त राज्य अमेरिका के डेट्रॉइट में इनमोंट कॉर्प में एक विकास रसायनज्ञ के रूप में काम करना शामिल था।

अपनी कॉर्पोरेट उपलब्धियों के अलावा, अश्विन दानी एक समर्पित योग चिकित्सक थे और कला संग्रह में उनकी गहरी रुचि थी। उत्कृष्टता के प्रति उनकी प्रतिबद्धता उनके परिवार तक फैली हुई है, क्योंकि उनके बेटे मालव दानी भी एशियन पेंट्स के बोर्ड में कार्यरत हैं। फोर्ब्स के अनुमान के मुताबिक, दानी परिवार की कुल संपत्ति 7.7 अरब डॉलर है, जो व्यापार जगत में उनकी स्थायी विरासत का प्रमाण है। एशियन पेंट्स और व्यापक पेंट उद्योग में अश्विन दानी के योगदान को आने वाले वर्षों में याद किया जाएगा, क्योंकि वह अपने पीछे नवाचार और नेतृत्व की एक उल्लेखनीय विरासत छोड़ गए हैं। उनका निधन भारत और उसके बाहर के व्यापारिक समुदाय के लिए एक गहरी क्षति है।

राजनयिक तनाव के बीच 'इंडियन साइबर फोर्स' ने हैक की कनाडाई सेना की वेबसाइट

अतीक अहमद गैंग का सदस्य दिल्ली से गिरफ्तार, अब्दुल सद्दाम को यूपी पुलिस ने दबोचा

जम्मू और कश्मीर में लगातार बढ़ते आतंकवाद पर 'धर्मगुरु' क्यों चुप ? कर सकते हैं बड़ी मदद

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -