पुनः भारत लौट रही है ईस्ट इंडिया कंपनी

पुनः भारत लौट रही है ईस्ट इंडिया कंपनी

भारत वर्ष में करीब 100 सालो से भी अधिक समय तक अपना अधिपत्य दर्शाने वाली ईस्ट इंडिया कंपनी पुनः भारत में लोटने की तैयारी में है. ईस्ट इंडिया कंपनी की शुरुआत 1600 में हुई थी तथा कंपनी ने 17वीं व 18वीं शताब्दी में पूरी दुनिया के व्‍यापार पर राज किया था. परन्तु इस बार ईस्ट इंडिया कंपनी का मालिक कोई विदेशी नही बल्कि एक हिंदुस्तानी होगा जिसका नाम है संजीव मेहता यह मुंबई के एक मशहूर उद्योगपति है जिन्होंने ईस्ट इंडिया कंपनी को खरीदा है. व इसके पीछे इस भारतीय का कोई भी राजनितिक उद्देश्य नही है. ईस्ट इंडिया कंपनी को खरीदने के लिए संजीव मेहता को जी तोड़ मेहनत करनी पड़ी. व काफी बड़ी राशि चुकानी पड़ी उन्होंने इसे 15 मिलियन डॉलर में खरीदा है तथा यह डील उनके लिए काफी महत्वपूर्ण डील थी. संजीव मेहता ने कंपनी के सभी मेजर शेयर्स को खरीद लिया है. 

संजीव ने इसके लिए दिन-रात एक कर दिए थे. संजीव मेहता ने कंपनी को करीब चालीस स्टेक होल्डर्स से खरीदा है। यह डील 2010 में फाइनल हुई थी. संजीव मेहता के मन में कंपनी को खरीदने के समय यही चल रहा था की जिस कंपनी ने भारत में सौ सालो तक अपना राज कायम किया था, आज भारत उसी कंपनी का मालिक है. मेहता ने कहा की हम कंपनी के द्वारा नए बिजनेस की शुरुआत करेंगे जिसमे की हम अपनी योजना के अनुसार लग्जरी गिफ्ट सेट्स और अन्य सामानों को ई-कॉमर्स के माध्यम से बेचेंगे. संजीव मेहता ने इस ब्रांड को भारत के स्वतंत्रता दिवस पर लांच किया है.