E - Cigarette क्यों हुई भारत में बैन, जाने इससे जुडी जानकारी यहाँ

ई सिगरटे यानी इलेक्ट्रानिक सिगरेट जोकि सिगरेट का ही एक पार्ट होता है। यह नार्मल तरीके से नहीं जलाई जाती है। इसमें निकोटिन तंबाकू के रुप में नहीं बल्कि लिक्विड के रुप में मौजूद होता है। जिसके फिलामेंट को जलाकर लिक्विड निकोटीन को वेपराइज किया जाता है। जिसे इनहेल किया जाता है।सरकार द्वारा भारत में इससे बन कर दिया गया है जो की स्वास्थय की दृष्टि से हानिकारक है  साथ ही इसमें जुरमाना भी लगाया गया है इसका पहली बार उल्लंघन करने वालों के खिलास 1 लाख का जुर्माना होगा। इसके साथ ही 1 साल की अधिकतम करावास या फिर दोनों हो सकते है।  वहीं दूसरी बार अगर पकड़े जाते है तो 5 लाख का जुर्माना लगेगा और 3 साल की कैद या फिर दोनों हो सकती है। यानि कि अब ई सिगरेट पीना अपराध के दायरे में आ गया है।

इससे स्वस्थ को कई नुक्सान पहुँचता है कुछ हम आपके साथ शेयर कर रहे है जैसे कि अगर कोई व्यक्ति लंबे समय तक ई सिगरेट का इस्तेमाल करता है तो उसके लिए जानलेवा साबित हो सकता है। इसमें निकोटिन की मात्रा अधिक पाई जाती है। जिसके कारण ब्लड स्पॉट की समस्या  के साथ-साथ ब्लड प्रेशर बढ़ने की समस्या हो जाती है। या ई सिगरेट में एक फ्लेवरिंग लिक्विड पाया जाता है जोकि दिल के लिए खतरनाक है। ई सिगरेट से कैंसर ही नहीं बल्कि हार्ट अटैक का भी खतरा रहता है।यूनिवर्सिटी ऑफ कंस के अनुसार ई सिगरेट से लोगों को डिप्रेशन होने की संभावना 2 गुना बढ़ जाती है।

फिट एवं हेल्थी रखने के अलावा एरोबिक्स देगा आपको ये स्वस्थ लाभ

ज्यादा देर यूरिन रोकने से ये होते है नुक्सान, संभल जाये और हो जाए सावधान

छोटा सा निम्बू स्वस्थ के लिए देता है ये चमत्कारी लाभ

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -