संसद में विपक्ष चल रहा सरकार को भरमाने की चाल

नई दिल्ली : आपने भी गौर किया होगा कि जब से संसद का शीत कालीन सत्र शुरू हुआ है तब से नोटबन्दी के मुद्दे पर अभी तक नहीं के बराबर कामकाज हुआ है. एक ओर सरकार इस विषय पर चर्चा के लिए तैयार है, तो दूसरी ओर विपक्ष चर्चा से बचना चाहते हुए दोनों सदनों में रोजाना अलग-अलग चालों के साथ सरकार को भरमाने की रणनीति अपना रहा है.इस कारण कोई भी विधायी कार्य नहीं हो पा रहे हैं.कहीं ऐसा न हो कि पूरा सत्र नोटबन्दी के मुद्दे की भेंट चढ़ जाए.

अब तो यह सत्ता पक्ष को भी समझ में आ गया है कि जब भी वह विपक्ष के जाल से बाहर निकलने की कोशिश करता है, विपक्ष फिर एक नई चाल के साथ एक नया मुद्दा लेकर हंगामा करने लगता है.इसमें कोई शक नहीं कि विपक्षी खेमा सदन में अपनी रणनीति पर चतुराई से से काम कर रहा है. इसीलिए उसने अलग-अलग दलों को सरकार को घेरने के लिए अलग जिम्मा सौंपा है.

यही वजह है कि जहाँ लोकसभा में विपक्षी दल सतर्कता के साथ नोटबंदी पर बहस शुरू करने की उत्सुकता दिखा रहे हैं, वहीँ राज्यसभा में सरकार की सुलह करने की सारी कोशिशें विपक्ष की नई मांगों के आगे बेकार हो रही हैं.इसी कारण संसद के दोनों सदनों में गतिरोध जारी है.

संसद में गरमाया सेना की तैनाती का मुद्दा

लोकतंत्र के मन्दिर का कैंटीन भी...

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -