अभेद्य किले में तब्दील राजधानी, परिंदा भी नही मार सकेगा पर

Jan 25 2016 11:26 AM
अभेद्य किले में तब्दील राजधानी, परिंदा भी नही मार सकेगा पर

नई दिल्ली। पठानकोट एयरबेस पर आतंकी हमले के बाद देश की सुरक्षा एजेंसिया चौकन्ना है. गणतंत्र दिवस के मद्देनज़र सुरक्षा एजेंसिया कोई भी जोखिम नही उठाना चाहती है. इसी के चलते हुए देश की राष्ट्रिय राजधानी को पूरी तरह एक अभेद्य किले में तब्दील कर दिया गया है. इसके लिए तक़रीबन 1000 निशानेबाजों के साथ ही करीब 49 हजार सुरक्षाकर्मियों की मुस्तैदी की गई है. साथ ही साथ प्रमुख स्थलों पर 15 हजार CCTV कैमरे लगाए गए हैं.

बता दे की इस बार गणतंत्र दिवस पर फ्रांस के राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद मुख्य अतिथि होंगे. जिससे की इस्लामिक स्टेट का खतरा मंडरा रहा है. राजधानी दिल्ली में कोई परिंदा भी पर न मार सके इसके लिए राजपथ इलाके के 2 किलोमीटर दायरे में किसी भी अनहोनी की चुनौती का सामना करने के लिए राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड के निशानेबाज ऊंची इमारतों पर तैनात रहेंगे. राजपथ पर होने वाले गणतंत्र दिवस समारोह में फ्रांस के राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद, राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मौजूद रहेंगे.

पुलिस ने जानकारी देते हुए बताया कि गणतंत्र दिवस समारोह को देखते हुए 49 हजार सुरक्षाकर्मियों को तैनात किया गया है, जिसमें 15 हजार अर्धसैनिक बल, 34 हजार दिल्ली पुलिस के जवान दिल्ली की सड़कों पर 26 जनवरी को सुबह पांच बजे से मुस्तैद रहेंगे. सूत्रों के मुताबिक मध्य, उत्तरी और नई दिल्ली जिले में 20 हजार सुरक्षाकर्मी तैनात रहेंगे. वही फ्रांस के राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद के दिल्ली आगमन के चलते करीब 20 हजार सुरक्षाकर्मियों को रविवार से ही तैनात कर दिया गया है.