दिल्ली के प्रदूषण से नहीं ली सीख तो विश्व की हवा हो जाएगी जहरीली

दिल्ली : दीपावली के बाद दिल्ली में बढ़े वायु प्रदूषण को लेकर संयुक्त राष्ट्र बालकल्याण संस्था ने विश्व जगत को सचेत किया है। इस संस्था ने कहा है कि वायु प्रदूषण रिकाॅर्ड स्तर पर पहुंच गया है। वैश्विक समुदाय के लिए यह एक बड़ी चेतावनी है। संस्था ने जिम्मेदारों को चेताया है कि वे प्रदूषण कम करने के लिए आवश्यक कदम उठाए। संस्थान ने इस बात पर गंभीरता से सवाल किए हैं कि आखिर इस तरह के हालात क्यों बन गए कि बच्चों के स्कूल तक बंद करना पड़े।

उन्होंने कहा कि दिल्ली में बढ़ता प्रदूषण विश्व के लिए खतरे की घंटी है। इससे सभी देश सचेत हो जाऐं हमें यह सोचना होगा। वायुप्रदूषण कम करने के लिए निर्णायक कार्रवाई नहीं हुई तो फिर विश्वजगत को इस तरह की परेशानियों से दौ चार होना पड़ सकता है। दिल्ली में जिस तरह से वायु प्रदूषण बढ़ गया था उसने पीएम स्तर को बीते 17 वर्ष की तुलना में सबसे अधिक बना दिया था, इतना ही नहीं करीब 17 वर्षों बाद प्रदूषण को लेकर इतनी खराब स्थिति बनी थी।

यूएन बालकल्याण संस्था ने चेतावनी दी कि इस तरह के बढ़ते प्रदूषण से पर्यावरण में जो बदलाव आए हैं जिस तरह से वातावरण बदला है उसके चलते प्रति वर्ष करीब 10 लाख बच्चों की मौत निमानिया से हो जाती है। संस्था के पदाधिकारियों ने कहा कि लंदन, बीजिंग, मेक्सिको, सिटी, लाॅस एंजिल्स और मनीला का वायु प्रदूषण स्तर अंतर्राष्ट्रीय मानकों की तुलना में बहुत अधिक हो गया है। यूनिसेफ द्वारा कहा गया कि विभिन्न देशों को वायु प्रदूषण का स्तर कम करने के लिए कड़े कदम उठाने होंगे।

न्यूज ट्रैक वीडियो

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -