हिन्दू देवी देवताओं को हमेशा गोरा ही क्यों बताया जाता है

ख़ूबसूरती सभी को अच्छी लगती है. उन्हें ही अच्छी नज़रों से देखा जाता है जो खुबसूरत होता है. यानि हमारे समाज में ख़ूबसूरती का पैमाना कुछ ज्यादा ही है. वही अगर कुछ लोग सांवले हो तो उन्हें ठीक ठाक ही समझा जाता है और ज्यादा तवज्जो नहीं दी जाती. वैसे ही हम बात करें भगवान की या फिर अपने हिन्दू देवी देवताओं की, तो हमने अक्सर देखा है टीवी शो में भी और उनके फोटोज में भी उन्हें हमेशा गोरे रंग का ही दिखाया जाता है.

अब हमारे पास पहले के कोई फोटो तो हैं नहीं जिन्हे देखकर ये कहा जाए कि वो भी सांवले हो सकते हैं. इसी को देखते हुए चेन्नई के के दो आर्टिस्ट ने देवी देवताओं की स्किन को सांवला बनाया गया है. चेन्नई के प्रोडक्शन हाउस स्लिंगशॉट क्रिएशन्स के को-फाउंडर भारद्वाज सुंदर के दिमाग में ऐसा ही एक आईडिया आया है. इसी को देखते हुए कंपनी के दूसरे को-फाउंडर और फ़ोटोग्राफ़र नरेश निल से इस बारे में बात की और उसके बाद उनके साथ एक फ़ोटो सीरीज़ बनाई.

इस फोटो सीरीज को उन्होंने 'डार्क इज़ डिवाइन' नाम दिया है. आप देख सकते हैं इन्होने देवी देवताओं के सात फोटो लिए हैं जिनको सांवले रंग में ढाला है. इस पर ये आर्टिस्ट कहते हैं कि, मैं सभी को ये बताना चाहता हूं कि हम नास्तिक नहीं है और न ही हम भगवान का मज़ाक उड़ा रहे हैं. इस फ़ोटो सीरीज़ के ज़रिये हम केवल ये बताना चाहते हैं कि सांवला रंग बहुत सुंदर होता है और ऐसे रंग वालों को शर्मिंदा होने या ख़ुद को किसी से कम आंकने की ज़रूरत नहीं है.' दरअसल, इस फोटो के माध्यम से दूसरे रंग को भी तवज्जो देना चाहते हैं और ये बताना चाहते हैं कि इसमें कोई बुराई नहीं है.

अगर मॉडर्न टाइम के होते डिज्नी कार्टून, तो कुछ ऐसे ही होते

लो कल्लो बात में मिलिए करोड़पति भिखारी से

भारत का ये आइलैंड सिर्फ 12 हज़ार में हो सकता है आपका

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -