दुनिया भर के परमाणु ठिकानो पर मंडरा रहा है खतरा, हो सकते हैं साइबर हमले

Oct 06 2015 11:26 PM
दुनिया भर के परमाणु ठिकानो पर मंडरा रहा है खतरा, हो सकते हैं साइबर हमले

डिजिटल सिस्टम पर बढ़ती निर्भरता और बिजनेस सॉफ्टवेयर के बढ़ते उपयोग के कारण इस्तेमाल की वजह से पूरी दुनिया के परमाणु ऊर्जा ठिकानों पर साइबर हमले का खतरा बढ़ता जा रहा है. लंदन के थिंक टैंक 'चैडम हाउस' की रिपोर्ट में इस बात का पता चला है.

रिपोर्ट के मुताबिक परमाणु संयंत्रों में इंटरनेट कनेक्टिविटी के व्यवसायिक उपयोग के लिए वर्चुअल प्राइवेट नेटवर्क (VPN) कनेक्शन इंस्टाल किए गए हैं, जिन्हें तोड़ना साइबर अपराधियों के लिए ज्यादा मुश्किल नहीं है. यहां तक कि जहां परमाणु संयंत्रों में उपयोग की जाने वाली टेक्नोलॉजी को पब्लिक नेटवर्क से अलग रखा जाता है, वहां भी महज एक फ्लैश ड्राइव के द्वारा इनकी सुरक्षा में सेंध लगाई जा सकती है.

सूत्रों की रिपोर्ट में कहा गया की विशेषज्ञों ने आपूर्ति श्रृंखला में सेंध, व्यक्तिगत प्रशिक्षण और साइबर सुरक्षा में कमी को भी इस खतरे का जिम्मेदार ठहराया है. बता दे की खतरों को कम करने के लिए शोधकर्ताओं ने कई उपाय भी सुझाए हैं. साइबर सुरक्षा उपायों में, खतरे का आकलन, सुरक्षित नियम लागू करना, औद्योगिक कंप्यूटर इमरजेंसी रिस्पाॅन्स टीम का गठन और नियामक मानदण्डों को वैश्विक स्तर पर अपानाने को प्रोत्साहन देना शामिल है.