Share:
5 दिन बाद पूरी हुई नोटों की गिनती, 2000 का एक भी नोट नहीं ! जानिए कांग्रेस सांसद धीरज साहू के पास IT को कितना कैश मिला
5 दिन बाद पूरी हुई नोटों की गिनती, 2000 का एक भी नोट नहीं ! जानिए कांग्रेस सांसद धीरज साहू के पास IT को कितना कैश मिला

रांची: झारखंड से कांग्रेस के राज्यसभा सांसद धीरज साहू के ठिकानों से बरामद नोटों की गिनती आखिरकार पांचवें दिन रविवार (10 दिसंबर) को पूरी हो गई। रिपोर्ट के अनुसार, सांसद के ठिकानों से बरामद रकम 351 करोड़ रुपये बताई गई है। नोटों की गिनती में आयकर विभाग और विभिन्न बैंकों के 80 लोगों की 9 टीमें शामिल थीं। बाद में सुरक्षा कर्मियों, ड्राइवरों और अन्य कर्मचारियों सहित 200 अधिकारियों की एक और टीम तब शामिल हुई जब कर अधिकारियों को कुछ अन्य स्थानों पर कैश से भरी 10 अलमारियां सामने आईं। हैरान करने वाली बात ये भी है कि, इन पूरे कैश में 2000 का एक भी नोट नहीं है, जिससे सवाल उठ रहे हैं कि, क्या ये पूरा कैश 19 मई 2023 के बाद जमा किया गया था ? क्योंकि 19 मई को ही RBI ने 2000 के नोटों को सर्कुलेशन के बाहर किया था। या फिर अगर सांसद ने 2000 के नोट बदलवाए हैं, तो इतनी बड़ी संख्या में नोट कैसे बदले गए और इसमें किसने मदद की ? ये भी एक जांच का विषय है। 

 

सूत्रों ने जानकारी दी है कि, नकदी को ओडिशा की विभिन्न बैंकों में जमा करने के लिए ले जाने के लिए लगभग 200 बैग और ट्रंक का उपयोग किया गया था। बलांगीर में SBI के क्षेत्रीय प्रबंधक भगत बेहरा ने जानकारी दी है कि नोटों की गिनती SBI की बलांगीर के अलावा संबलपुर और टिटलागढ़ शाखा में भी जारी थी। इनमें बैंक के 50 से ज्यादा कर्माचारी और आयकर विभाग के 3 दर्जन अधिकारी व कर्मचारी 5 दिन तक लगे हुए थे और नोट गिनने के लिए 40 मशीनें लगाई गई थीं।

 

नोट गिनने के दौरान मशीनों के खराब हो जाने की दिक्कत को दूर करने के लिए इंजीनियर भी मौजूद थे। बेहरा ने बताया कि 40 मशीनों में 25 से नोटों की गिनती की गई और 15 मशीनों को बैकअप के रूप में रखा गया था। 176 बैगों में भरे गए नोटों के बंडल में 140 का हिसाब-किताब पहले ही कर लिया गया था, और शेष 36 बैगों की गिनती भी रविवार को पूरी हुई। उसके बाद कुल नकद राशी 351 करोड़ तक पहुंची।

आयकर की टीम ने रविवार को भी ओडिशा के संबलपुर, बलांगीर, टिटलागढ़, बौध, सुंदरगढ़, राउरकेला और भुवनेश्वर के साथ ही झारखंड के रांची, लोहरदगा और बंगाल में कुछ ठिकानों पर रेड मारी। ओडिशा में धीरज के दो कारोबार प्रबंधकों राजेश साहू व बंटी साहू से संबंधित संपत्ति की भी जांच की जा रही है। आयकर की टीम फ़िलहाल दोनों प्रबंधकों से पूछताछ कर रही है। बता दें कि, छापेमारी के पहले दिन बलांगीर स्थित बलदेव साहू इंफ्रा प्राइवेट लिमिटेड कंपनी से अलमारियों में भरे 200 करोड़ रुपये से अधिक नकद मिले थे। वहीं, बौध डिस्टिलरीज प्राइवेट लिमिटेड के दफ्तर से भी भारी मात्रा में कैश मिला था।

इसके बाद ओडिशा के विभिन्न स्थानों से साहू से संबंधित शराब कारोबारियों और कंपनी के अधिकारियों के घरों और आवासों से भी नोटों की भारी बरामदगी हुई। बौध डिस्टिलरी प्राइवेट लिमिटेड तथा उसके प्रमोटरों तथा साहू के करीबियों पर शराब व्यवसाय में अवैध लेनदेन तथा आयकर चोरी के संदेह में आयकर विभाग ने यह छापेमारी शुरू की थी।

धीरज साहू का पुराना ट्वीट हो रहा वायरल :-
कांग्रेस सांसद धीरज साहू की कंपनियों और करीबियों के ठिकानों से आयकर विभाग द्वारा नोटों के ढेर बरामद किए जाने की खबरों के बीच साहू के एक पुराने ट्वीट सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे हैं। यह 12 अगस्त 2022 का है। इसमें धीरज साहू ने पोस्ट किया था कि ''नोटबंदी के बाद भी देश में इतना काला धन और भ्रष्टाचार देखकर मन व्यथित हो जाता है। मेरी तो समझ में नहीं आता है कि कहां से लोग इतना काला धन जमा कर लेते हैं?''

धीरज साहू ट्वीट में लिखते हैं कि, अगर इस देश से भ्रष्टाचार कोई जड़ से खत्म कर सकता है, तो वह कांग्रेस पार्टी ही है। अब उनकी पुरानी पोस्ट्स पर लोग काफी चुटकी ले रहे हैं।

अब संसद में नहीं मिलेगी 'नमाज़' पढ़ने की छुट्टी ! उपराष्ट्रपति धनखड़ ने ख़त्म किया 30 मिनट का ब्रेक

दलितों को वोटिंग-नौकरी का हक़ नहीं, कश्मीर का अलग संविधान ! क्या ऐसा 370 फिर लागू होना चाहिए ? आज 'सुप्रीम' फैसला

'मोदी की गारंटी पूरी करूँगा..', सीएम बनते ही विष्णुदेव साय ने किया गरीबों को 18 लाख घर देने का ऐलान

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -