जंतर-मंतर से संसद तक कांग्रेस निकालेगी लोकतंत्र बचाओ रैली

नई दिल्ली : अगस्ता वेस्टलैंड घोटाले में कांग्रेस बीजेपी को ही घेरने के मूड में है। आज कांग्रेस द्वारा जंतर-मंतर से संसद भवन तक लोकतंत्र बचाओ रैली के नाम से पद यात्रा निकाली जाएगी। जिसकी अगुवाई कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी करेंगे। दूसरी ओर आज भी सदन में चॉपर डील पर ही हंगामा होने के आसार है।

शुक्रवार को सदन में इस मामले को लेकर रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर एक बार फिर बयान देंगे। इससे पहले इस मामले पर बीजेपी नेता अनुराग ठाकुर, किरीट सोमैया, निशीकांत ठाकुर, कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधि‍या और टीएमसी के सौगत रॉय के ध्यानाकर्षण प्रस्ताव पर बहस होगी।

सुबह साढ़े नौ बजे से शुरु होने वाली यात्रा के संबंध में कहा जा रहा है कि सुरक्षा कर्मी इसे पार्लियामेंट स्ट्रीट पर ही रोक लेंगे। इतना ही नहीं संसद सत्र शुरु होने के कारण संसद के चारों ओर धारा 144 लागू है। शुक्रवार को अगस्ता घोटाले को लेकर दायर की गई जनहित याचिका पर भी सुनवाई होनी है।

इस याचिका में मांग की गई है कि इटली की अदालत के फैसले के आधार पर सोनिया गांधी, पूर्व पीएम मनमोहन सिंह और अहमद पटेल जैसे नेताओं पर एफआईआर दर्ज की जाए। इसके अलावा कांग्रेस अरुणाचल प्रदेश और उतराखंड में लगाए गए राष्ट्रपति शासन और हिमाचल प्रदेश में सरकार को अस्थिर करने के प्रयासों को लेकर भी बीजेपी पर हमला बोल सकती है।

राहुल गांधी अगस्ता पर होने वाली बहस के लिए संसद भी जा सकते है। इससे पहले कांग्रेस प्रवक्ता जयराम रमेश ने गुरुवार को ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर आरोप लगाया कि उन्होंने कांग्रेस नेतृत्व को अगस्ता वेस्टलैंड मामले में फंसाने के लिए यह साजिश रची है।

जयराम रमेश ने कहा कि प्रधानमंत्री ने जिस तरह ट्वीट करके अपने रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर के इस मामले में राज्यसभा में दिए उत्तर की सराहना की, वह न सिर्फ उनकी मानसिकता को दिखाता है बल्कि उनकी रणनीति का भी खुलासा करता है।

रमेश ने पर्रिकर के बारे में कहा था कि पर्रिकर का जवाब संसदीय इतिहास में अब तक का सबसे खराब उदाहरण है, क्यों कि उन्होने विपक्ष के सवालों का जवाब देने की बजाए आरोपों का पूरा कैटलॉग ही पढ़ दिया।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -