अर्थव्यवस्था नही संभाल पा रहे है वित मंत्री

अर्थव्यवस्था नही संभाल पा रहे है वित मंत्री

नई दिल्ली : डीडीसीए में भ्रष्टाचार के आरोपों में घिरे वित मंत्री अरुण जेटली को अब चौतरफा सलाह मिलने लगी है। कांग्रेस ने जेटली से कहा है कि वो हर वक्त नारद मुनि न बने, बल्कि वित मंत्री ही बने रहे। दरअसल कांग्रेस द्वारा ये बयान जेटली के उस बयान के बाद आया है, जिसमें जेटली ने कहा था कि संसद में गतिरोध के लिए कांग्रेस पार्टी नहीं बल्कि कांग्रेस नेतृत्व जिम्मेदार है।

कांग्रेसी नेता जयराम रमेश ने जेटली पर आरोप लगाया है कि वो पार्टी और नेतृत्व के बीच गतिरोध पैदा करने का प्रयास कर रहे है। रमेश का कहना है कि जेटली ऐसा इसलिए कर रहे है, क्यों कि जेटली ने देश की आर्थिक स्थिति पर पूरी तरह से नियंत्रण खो दिया है। एक प्रेस कांफ्रेंस के दौरान रमेश ने कहा कि वित मंत्री होने की बजाए वो नारद मुनि हो गए है। उन्हें नारद मुनि बनना बंद करना चाहिए और वित मंत्री बनना चाहिए।

रमेश ने कहा कि कांग्रेस और उसके नेतृत्व के बीच कोई तनाव नही है। उन्होने जेटली के संबंध में ये तक कह दिया कि डीडीसीए घोटाले में गंभीर आरोपों के बाद वो व्यग्र और बेचैन हो गए है। इस दौरान रमेश ने पीएम पर निशाना साधते हुए कहा कि वो बेशर्मी से जनसंपर्क अभियान चलाने में लगे है और वित मंत्री अर्थव्यवस्था नही संभाल पा रहे है।

उन्होंने कहा कि विकास नहीं हो रहा है, निर्यात कम हो गया है, महंगाई बढ़ गई है, निवेश नीचे आ गया है, औद्योगिक उत्पादन बहुत नीचे चला गया है और कच्चे तेल की कीमतों में रिकॉर्ड कमी के बावजूद ऐसा हो रहा है।