सामूहिक विवाह के नाम ठगाये 31 दूल्हे

फरीदाबाद : यहां सामूहिक विवाह के नाम पर ठगी करने का मामला सामने आया है। बताया गया है कि ठगोरों ने सामूहिक विवाह कराने के लिये दुल्हों के परिजनों से पचास हजार रूपये से अधिक वसूले थे, लेकिन जब दूल्हे और उनके परिजन बताये गये आयोजन स्थल पर पहुंचे तो वहां न तो दुल्हन थी और न ही आयोजकों के कहीं अते-पते थे। थक-हारकर ठगे गये लोगों ने पुलिस की शरण ली  है।

बताया गया है कि मेरठ की भारतीय दहेज उन्मूलन संस्था भारत ने सामूहिक विवाह सम्मेलन के नाम पर रूपये वसूले थे। जानकारी दी गई है कि संस्था के लोगों ने बकायदा प्रपत्र भी भराये थे और शादी की तारीख के साथ ही आयोजन स्थल दशहरा मैदान भी बताया गया था। लेकिन जब दूल्हे और उनके परिजन निश्चित तारीख तथा स्थान पर पहुंचे तो कुछ नहीं मिला।

पुलिस को जानकारी देते हुये एक दूल्हे  ने बताया कि सुभाष काॅलोनी में रहने वाले मंटू नामक युवक के माध्यम से मोदी नगर निवासी बंसी, गौतम और सुनिल से मुलाकात हुई थी। इन्होंने यह कहा था कि वे संस्था चलाते है तथा दहेज विरोधी अभियान चलाने के लिये सामूहिक विवाह सम्मेलनों का आयोजन करते है। इसके बाद उसने अपने परिचितों को इसकी जानकारी दी तो एक के बाद एक परिवार सामूहिक विवाह के लिये तैयार हो गये तथा मांगे गये रूपयों के साथ ही प्रपत्र भर दिये थे।

मनचाहे वर की प्राप्ति के लिए सच्चे मन से करे गणेशजी की पूजा

उम्र 70 वर्ष, काम पासबुक चुराना, कहा-मैं भूलक्कड़

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -