डोकलाम विवाद पर चीन का स्टैंड था सुरक्षित समाधान- पीएलए

पीपल्स लिबरेशन आर्मी ने डोकलाम मुद्दे पर राष्ट्रपति शी चिन फिंग के स्टैंड को संतोषजनक बताया है.डोकलाम विवाद पर जिस तरह से चीन ने अपनी प्रतिक्रिया दी है, उसे पीएलए ने सुरक्षित तरीका माना है.

चीन की सेना की टॉप इकाई सेंट्रल मिलिटरी कमिशन की तरफ से हुई प्रेस कॉन्फ्रेंस में स्टाफ ऑफिसर ली फांग ने कहा कि भारतीय सेना चीन के अधिकार क्षेत्र वाले हिस्से में प्रवेश कर रही थी. डोकलाम मुद्दे पर भारत के साथ समझौते के दौरान चीन के रक्षा मंत्रालय के साथ अन्य मंत्रालयों ने अपनी पैनी नजर बनाए रखी.उन्होंने कहा कि निःसंदेह यह मुद्दा सुरक्षित तरीके से सुलझाया गया. हमने चीन के स्टैंड को बहुत अच्छी तरह से पेश किया और भारत-चीन बॉर्डर विवाद को शांतिपूर्ण तरीके से सुलझा लिया. 

ली ने कहा कि पीएलए ने अन्य राष्ट्रों की सेना के साथ भी नियमित संपर्क बनाए रखने के लिए दूसरे प्रभावी साधन भी तैयार किए हैं.चीन अपने मैत्री संबंधों में विस्तार कर रहा है जिसमें बड़े ताकतवर मुल्क तथा पड़ोसी राष्ट्र भी शामिल हैं.हम आपसी सहयोग का एक बड़ा नेटवर्क तैयार करने की दिशा में सुरक्षित काम कर रहे हैं.ली ने कम्युनिस्ट पार्टी की कांग्रेस के मौके पर यह बात कही.हर पांच साल में होने वाली कांग्रेस में नीतियों के निर्धारण के साथ पार्टी अपनी अगली पीढ़ी का नेता भी चुनती है.

उत्तर कोरिया ने तैयार किया , विश्व को समाप्त करने का प्लान

पीएम मोदी ने दी शिंजो आबे को जीत की शुभकामना

डोकलाम मसला: पीएलए ने की चीन के राष्ट्रपति की सराहना

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -