भारतीय नागरिक के इस गजब कारनामे से हैरत में पड़ा चीन, सामने आई फोटोज
भारतीय नागरिक के इस गजब कारनामे से हैरत में पड़ा चीन, सामने आई फोटोज
Share:

हमारे देश में लोग खुद को स्वस्थ्य रखने के लिए प्रचीन काल से ही योग का सहारा लेते हुए आए है। योग न केवल हमारे शरीर की मांसपेशियों को अच्छा व्यायाम देता है, बल्कि यह हमारे दिमाग को भी शांत रखने में में भी सहायता करता है। वैसे योग के फायदे को लेकर रोजाना कई खबरें भी सुनने के लिए मिलती है, लेकिन एक संयुक्त राष्ट्र के भारतीय राजनयिक ने चीन में योग  के माध्यम से एक ऐसा कारनामा किया है, जिससे वो चर्चाओं का विषय बन गए है।

शून्य से नीचे के तापमान में कसरत करना योग से संभव:  खबरों का कहना है कि चीन में संयुक्त राष्ट्र के प्रमुख सिद्धार्थ चटर्जी इन दिनों चीनी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। वायरल होने का कारण ये है कि उन्होंने शून्य से भी नीचे के तापमान में व्यायाम भी किया है और कई कठिन योग अभ्यास भी किया है। सिद्धार्थ चटर्जी का इस बारें में बोलना है कि इतने कम तापमान में शारीरिक और मानसिक संतुलन बनाए रखने में मदद व्यायाम करने से ही मिली थी।

गहरी सांस लेने वाले योग के फायदे को लेकर डॉक्यूमेंट्री: रिपोर्ट्स का कहना है कि चीन के लिए संयुक्त राष्ट्र के रेजिडेंट कोऑडिनेटर सिद्धार्थ चटर्जी ने हाल ही में गहरी सांस लेने वाले योग के लाभ को लेकर एक डॉक्यूमेंट्री जारी कर दिया था, इसमें उन्होंने बताया था कि इससे कोविड जैसे वायरस से प्रतिरक्षा (Immunity) करने में सहायता मिलने वाली है।

ब्रीथिंग फॉर गुड हेल्थ: इतना ही नहीं सिद्धार्थ चटर्जी की साढ़े 4 मिनट की डॉक्यूमेंट्री का टाइटल 'ब्रीथिंग फॉर गुड हेल्थ' है। डॉक्यूमेंट्री की शुरुआत 'ओम' के उच्चारण के साथ ही है। वीडियो में देखा जा सकता है कि सिद्धार्थ ठंडे बीजिंग के मौसम में जमी हुई झील पर एक पतले बिस्तर पर शर्टलेस ही बैठे दिखाई दे रहे है।

बर्फ में योग करने की वीडियो चीन में वायरल: जिसके उपरांत सिद्धार्थ पेट को अंदर-बाहर करने के उपरांत गहरी सांस लेने की कसरत करते हैं। पेट के मंथन के बाद सिद्धार्थ शीर्षासन का कठिन अभ्यास करते हैं। खबरों की माने तो सिद्धार्थ चटर्जी की बर्फ में योग करने की वीडियो चीन में सोशल मीडिया पर वायरल हो चुकी है।

हम दुनिया में आते हैं तो सबसे पहला काम सांस लेना है: इतना ही नहीं व्यायाम करते हुए अपनी डॉक्यूमेंट्री में सिद्धार्थ करते हैं, "जब हम दुनिया में आते हैं तो सबसे पहला काम सांस लेना है और जब हम दुनिया को छोड़ते हैं तो आखिरी काम हम सांस नेता बंद कर देते है।"

योग से बीमारियों को दी मात:  60 वर्ष के सिद्धार्थ चटर्जी ने इस बारें में बोला है कि जब उन्हें 2020 में चीन में संयुक्त राष्ट्र के प्रमुख राजनयिक के रूप में नियुक्त किया गया था, तो वह हाई कोलेस्ट्रॉल, हाई BP और उच्च हृदय गति के साथ प्री-डायबिटीज के साथ मोटापे की समस्या से जूझ रहे थे।

योग से 25 किलोग्राम वजन कम किया: इस बारें में उन्होंने जानकारी दी है कि  तेजी से सांस लेने, उपवास करने और ठंड में रहने की वजह से उन्होंने नॉर्मल BP के साथ में अपने स्वास्थ्य को एकदम से ठीक कर लिया। उन्होंने योग से ही 25 किलोग्राम वजन भी कम कर लिया है, जिससे उन्हें शारीरिक और मानसिक संतुलन हासिल करने में सहायता मिली।

'भारत घुसकर मारेगा तो बचाने नहीं आएगा अमेरिका', PM मोदी के बयान पर आई USA की प्रतिक्रिया

लोकसभा चुनाव से पहले आज से सील कर दी गई भारत-नेपाल की बॉर्डर

'भारतीय सेना का अपमान है अग्निपथ योजना, सत्ता मिलते ही ख़त्म करेंगे..', केरल में राहुल गांधी ने दोहराया अपना वादा

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
Most Popular
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -