Share:
बेहोशी का इंजेक्शन देकर डॉक्टर करता था रेप, परिजनों ने पीट-पीटकर पुलिस को सौंपा
बेहोशी का इंजेक्शन देकर डॉक्टर करता था रेप, परिजनों ने पीट-पीटकर पुलिस को सौंपा

रायपुर: छत्तीसगढ़ के बालोद से इंसानियत को शर्मसार करने वाली वारदात सामने आई है। यहां एक डॉक्टर उपचार के बहाने महिला को बेहोशी को इंजेक्शन लगाता था और फिर उसके साथ बलात्कार करता था। मामले की खबर मिलने पर शुक्रवार को महिला के परिजनों ने जमकर हंगामा किया। वहीं, सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची, तो परिजनों ने डॉक्टर को पीटते हुए बाहर लाकर सौंप दिया। इसके बाद पुलिस ने आरोपी डॉक्टर को अरेस्ट कर लिया है।

इस संबंध में पीड़ित महिला की शिकायत पर कोतवाली थाना बालोद में मामला दर्ज किया गया है। पूरे मामले की जांच जारी है। मामला बालोद शहर के संजीवनी अस्पताल का है। पुलिस ने बताया है कि इस अस्पताल का संचालक डॉक्टर शिखर गुप्ता कई महिलाओं के साथ इस प्रकार की वारदात को अंजाम दे चुका है। पीड़िता ने पुलिस को दिए शिकायत में बताया कि उसके साथ आरोपी लगभग एक साल से बलात्कार कर रहा है। इसका महिला को शक तो था, मगर अब तक वह कुछ कह नहीं पायी। मगर, गुरुवार को आरोपी ने खुद महिला को कॉल किया और अश्लील बातें करते हुए उसे बताया कि वह कई बार बलात्कार कर चुका है। इसके बाद महिला अपने परिजनों के साथ अस्पताल पहुंची। जहां महिला और उनके परिजनों ने जमकर हंगामा करते हुए डॉक्टर को पीट डाला।

डॉक्टर की पिटाई और अस्पताल में हंगामे की खबर मिलने पर मौके पर भारी भीड़ इकठ्ठा हो गई। हालात को देखते हुए अस्पताल के कर्मचारियों ने गेट बंद कर दिया। हालांकि, कुछ ही देर में पहुंची पुलिस ने गेट खुलवाकर दोनों पक्षों से बात चीत की और पीड़िता की शिकायत पर केस दर्ज करते हुए आरोपी डॉक्टर को अरेस्ट कर लिया। SDOP प्रतीक चतुर्वेदी ने बताया कि परिवार वालों को शांत कराकर थाने लाया गया है। इस मामले में आरोपी को अरेस्ट कर लिया गया है।

परिजनों ने पुलिस को दिए शिकायत में बताया है कि, आरोपी डॉक्टर महिला को नशीला इंजेक्शन देकर बलात्कार करता था। आरोपी ने इसी तरीके से कई अन्य महिलाओं के साथ भी वारदात को अंजाम दिया है। हालांकि, पुलिस प्रशासन के अधिकारियों ने मामले की जांच के बाद भी इस प्रकार के आरोपों की पुष्टि नहीं की है। पुलिस के अनुसार, अभी तक यह स्पष्ट नहीं हो सका है कि महिला को नशीला इंजेक्शन देकर बलात्कार को अंजाम दिया गया है।

बताया जा रहा है कि डॉक्टर शिखर की क्षेत्र के कुछ रसूखदार लोगों के साथ घनिष्ठ रिश्ते है। इसके कारण डॉक्टर की गिरफ्तारी की खबर के बाद से ही इन रसूखदार लोगों ने पीड़ित पक्ष के साथ बातचीत कर समझौते की प्रक्रिया शुरू कर दी है। हालांकि पुलिस ने मामला दर्ज करने के बाद बताया कि इस मामले में चार्जशीट दाखिल की जाएगी। आगे का फैसला अदालत में ही होगा। इसी के साथ पुलिस ने आरोपी डॉक्टर को कोर्ट में पेश किया, जहां से उसे 14 दिन की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया है।

इंसानियत शर्मसार ! बाप ने ही किया 16 वर्षीय बेटी का बलात्कार

कन्नौज: तहसील कार्यालय में सिपाही ने लगाई फांसी, 5 महीने पहले ही हुई थी शादी

जरा सी बात पर छिड़ा विवाद, शराबी ने वेटर के सर पर दे मारी बोतल

रिलेटेड टॉपिक्स
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -