प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा सोमालिया से तुलना पड़ सकता है भारी

केरल: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने केरल की तुलना सोमालिया से कर तो दी है लेकिन अब उन्हें इस मामले में केरल के लोगों की उपेक्षाओं का सामना करना पड़ेगा. ऐेसे मलयाली भी प्रधानमंत्री की बयानी से आहत हैं जो कि अन्य राज्यों में और विश्व के कोने-कोने में रहते हैं. यह बात केरल के मुख्यमंत्री ओमान चांडी ने कही. दरअसल वे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बयान को लेकर बोल रहे थे. इस दौरान उन्होंने सोशल मीडिया वेबसाईट फेसबुक पर पोस्ट भी किया।

उन्होंने लिखा कि विश्वभर में जो मलयाली प्रधानमंत्री हैं उन्हें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बयानों से परेशानी है. चांडी द्वारा पीएम मोदी के बयानों का उल्लेख भी किया गया. उनका कहना था कि "मलयालियों के स्वाभिमान को बड़ी ठेस पहुंची है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी चुप्पी साधकर अपने वक्तव्य पर कुछ नहीं कहेंगे ऐसी उम्मीद मलयाली समुदाय नहीं करता है"। केरलवासियों को इस बात पर बहुत बुरा लगा है कि उनकी तुलना सोमालिया के लोगों से की गई.

उल्लेखनीय है कि पीएम मोदी ने कहा था कि सामाकलिया की तुलना में केरल में अनुसूचित जनजातियों में बाल मृत्युदर बडभयभीत करने वाली है.  इससे पूरे राज्य में विरोध भड़क गया. चांडी ने कहा कि मोदी से विरोध प्रदर्शन कर अपना बयान वापस लेने की मांग की जा रही थी लेकिन उन्होंने ऐसा नहीं किया. अब यह अंदेशा भी है कि कहीं उनकी प्रतिष्ठा प्रभावित न हो जाए।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -