केंद्र ने की विश्व बैंक से 700 करोड़ की सहायता की मांग

हाल ही में अल्पसंख्यक मामलो की केंद्रीय मंत्री नजमा हेपतुल्ला ने एक नई मंजिल परियोजना के बारे में बात की है. इस मामले में नजमा ने यह बताया है कि केंद्र के द्वारा नई मंजिल परियोजना को लेकर व्यावसायिक कौशल प्रशिक्षण की शुरुआत की गई है और इसके लिए केंद्र ने विश्व बैंक से 700 करोड़ रूपये की सहायता की मांग भी की है. गौरतलब है कि इस नई मंजिल कार्यक्रम के तहत जो बच्चे बीच में ही स्कूल को छोड़ चुके है उनको मदद दी जानी है और साथ ही उनमे और स्कूलों में पढाई करने वाले बच्चों के बीच जो अंतर है उसे दूर करने में भी मदद की जानी है.

इसके साथ ही नजमा ने यह भी बताया है कि इस कार्यक्रम के तहत बच्चों को स्कूलों और कॉलेजों में दाखिला भी दिलवाए जाने की बात सामने आई है. नजमा ने यह भी कहा है कि विश्व बैंक से कर्ज की मांग पहले ही की जा चुकी है. इसके अलावा मंत्री ने यह बात भी स्पष्ट की है कि विश्व बैंक को यह योजना भी बहुत ही पसंद आई है और इससे वह खुद भी प्रभावित है. यही नहीं वह जल्द से जल्द इस योजना को दक्षिण पूर्व एशिया और अफ्रीका में लागू भी करना चाहता है.

जानकारी को जारी रखते हुए नजमा ने यह कहा है कि माइक्रो यूनिट्स डेवलपमेंट एंड रिफाइनेंस एजेंसी (मुद्रा) योजना के अंतर्गत भी करीब 12 करोड़ लोगों को ना केवल आत्मनिर्भर बनाये जाने पर जोर दिया जाना है बल्कि साथ ही इस योजना के तहत महिलाओं पर भी विशेष रूप से जोर दिया जाना है.

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -