नॉमिनेशन भरने के लिए भैंस पर बैठकर आए नेता जी

पटना : अपने नेता को वोट मांगने के लिए क्या क्या नहीं करते देखा होगा. लेकिन हाजीपुर में राघोपुर सीट से चुनाव लड़ रहे निर्दलीय प्रत्याशी सुभाष चंद्र यादव ने सब नेताओ से कुछ अलग ही कर दिया जिससे देख कर जनता में ख़ुशी का माहौल बन गया. यह नेता नॉमिनेशन भरने के लिए कार,प्लेन, या किसी प्रकार की कोई गाड़ी में नहीं बल्की भैस पर बैठ कर अपना नॉमिनेशन भरने आया. नेताजी के इस कारनामे को देख कर जनता जमा होने लगी.

गले में फूलों की माला पहने और भैंस पर सवार नेताजी हर किसी के आकर्षण का केंद्र थे. नेताजी का काफिला जैसे जैसे आगे बड़ा जनता का भी सैलाब बढ़ने लगा भीड़ देखकर नेता जी की सही सवारी डरने लग गई. इसी दौरान कुछकार वाले लगातार हॉर्न बजाने लगे. हॉर्न की आवाज से भैंस बीचक गई. नेताजी का एक कार्यकर्त्ता भैंस की रस्सी पकड़े हुए था, लेकिन बिचकि भैंस को संभालना उसके बस की बात नहीं थी. मौका पाते ही नेता जी तुरंत भैस की पीठ से उत्तर गए और अपने आप को गिरने से बचा लिया. नेताजी का कहना है की वह पूर्ण रूप से यादव हैं.

वह हाजीपुर के यादवों के नेता हैं, इसलिए उन्होंने अपनी शाही सवारी भैंस को बनाया हैं. उनकी समाज में भैंस और गाय पालने की परंपरा है. उनके यहां गाय माता की पूजा की जाती है. अपने बचपन के दिनों में नेताजी भैंस की पीठ पर बैठ कर उसे चराने जाया करते थे. पालतू पशु के प्रति अपना लगाव दिखने के लिए ही वह भैंस पर बैठ कर नॉमिनेशन जमा करने आए थे.

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -