आम बजट से रेलवे बजट को अलग करने के बाद हुई कई बड़ी घोषणाएं, क्या है खास

आम बजट से रेलवे बजट को अलग करने के बाद हुई कई बड़ी घोषणाएं, क्या है खास

अरुण जेटली पहले ऐसे वित्त मंत्री हैं, जिन्होंने आम बजट और रेलवे बजट को संयुक्त रूप से पेश किया है ।ऐसा  उन्होंने एक फरवरी 2017 को किया था। इससे पहले ये दोनों बजट अलग-अलग पेश किये जाते रहे हैं। वही अंतिम बार 25 फरवरी 2016 को रेल बजट अलग से पेश किया गया था। इसके साथ ही इस दिन रेल बजट और आम बजट को अलग-अलग पेश करने की 92 साल की परंपरा खत्म हुई थी। रेलवे बजट के आम बजट में विलय के बाद से सरकार द्वारा भारतीय रेलवे के लिए कई बड़ी घोषणाएं की गई हैं। आइए जानते हैं कि ये घोषणाएं क्या-क्या हैं।

वर्ष 2017 के बजट की घोषणाएं
साल 2017 में वित्त मंत्री अरुण जेटली ने पहला संयुक्त बजट पेश किया गया था। इस बजट में जेटली ने भारतीय रेलवे के लिए 1.3 लाख करोड़ रुपये आवंटित किये थे।वही  यह भारतीय रेलवे के इतिहास का सबसे बड़ा आवंटन रहा था। यह भारतीय रेलवे के लिए एक ऐतिहासिक क्षण था। वर्ष 2017 के बजट में जेटली ने यात्रियों की सुरक्षा, विकास कार्यों, स्वच्छता और वित्त व लेखा सुधार पर विशेष ध्यान दिया था। इसके अलावा , एक अभूतपूर्व पहल करते हुए जेटली ने IRCTC, IRCON और IRFC जैसी रेलवे की सब्सिडियरीज की बाजार में लिस्टिंग करने का भी प्रस्ताव रखा था ।

वर्ष 2018 के बजट की घोषणाएं
साल 2017 की तरह ही 2018 में भी रेलवे को बजट में अच्छा आवंटन दिया गया था । वित्त मंत्री ने इस साल रेलवे के लिए खर्च को बढ़ाकर रिकॉर्ड 1.48 लाख करोड़ रुपये कर दिया है । इस बजट में पूंजीगत व्यय पर अधिक ध्यान दिया गया है । यह आवंटन रेलवे की क्षमता बढ़ाने को लेकर केंद्रित था। जिसमें ट्रैक के नवीकरण व दोहरीकरण, गैज में परिवर्तन और 600 रेलवे स्टेशनों का आधुनिकीकरण मौजूद था।

वर्ष 2019 के बजट की घोषणाएं
इस वर्ष  के बजट में रेलवे के लिए आवंटन में और वृद्धि हुई और यह सर्वाधिक 1.6 लाख करोड़ रुपये पहुंच गया। यह आवंटन सभी लोगों के लिए रेल यात्रा को सहज और सुखद बनाने को लेकर केंद्रित था, इसलिए यात्री सुविधाओं पर ज्यादा ध्यान दिया गया था । इसमें यात्रियों की सुरक्षा को लेकर भी खासा ध्यान दिया गया था । भारत आज दुनिया का ऐसा पहला देश बन गया है, वही जिसने रेलवे का पूरी तरह विधुतिकरण कर दिया है। भारत पहली हाई स्पीड बुलेट ट्रेन का भी निर्माण कर रहा है, जो कि अहमदाबाद से मुंबई के बीच चलेगी।

PACL UPDATE: निवेशकों को रहना चाहिए सतर्क, सेबी ने कहा फर्जी ई-मेल पर न दें ध्‍यान

Budget Expectations 2020: उद्यमियों ने साइकिल को प्रोत्साहित करने के लिए विशेष पैकेज की रखी मांग

RBI data :दो जनवरी को ख़त्म हुए पखवाड़े में बैंक कर्ज में हुई 7.5 फीसद की बढ़ोतरी