मोदी के खिलाफ साजिश के लिए अधिकारियों को मिला था लालच

Feb 13 2016 12:30 PM
मोदी के खिलाफ साजिश के लिए अधिकारियों को मिला था लालच

नई दिल्ली : मुंबई में हुए 26/11 के आतंकी हमलों को लेकर अहम गवाह बने डेविड हेडली द्वारा इशरत जहां को लेकर दिए गए बयान के बाद देश में राजनीति गर्मा गई। अब इस मामले में एक नया खुलासा हुआ है। दरअसल वर्तमान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के विरूद्ध राजनीतिक षडयंत्र रचकर झूठा बयान देने के लिए आईबी के पूर्व स्पेशल डायरेक्टर राजिंदर कुमार को लालच दिया गया था। पूर्व अधिकारी राजिंदर ने हाल ही में इस मामले में बयान दिया जिसमें उन्होंने कहा कि इस तरह के षडयंत्र में आईबी को भी शामिल करने का प्रयास किया गया।

अधिकारियों को यह भी कहा कि सेवानिवृत्ति के बाद इन अधिकारियों को बड़े पदों पर नियुक्ति दी जाएगी। राजिंदर कुमार द्वारा यह भी कहा गया कि वे यह चाहते थे कि वे इस तरह का बयान दें जो गुजरात के तत्कालीन मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी के विरूद्ध सबूत पेश कर सकें। उन्होंने इस तरह का झूठा बयान देने से इन्कार कर दिया।

इस तरह की बात सामने आने के बाद कांग्रेस नेतृत्व वाली तत्कालीन यूपीए सरकार के लिए मुश्किल खड़ी हो गई। यह भी कहा गया कि सरकार के मुख्य विरोधी को जेल में भी डाला जा सके। राजिंदर ने इसे लोकतंत्र के विरूद्ध राजनीतिक षडयंत्र बताया और कहा कि यूपीए सरकार के लिए मोदी की साख एक चुनौती बन चुकी थी। जिसके कारण अधिकारियों को मोदी के खिलाफ बयान देने के लिए दबाव में लाने का प्रयास किया गया। राजिंदर कुमार द्वारा किए गए खुलासे के बाद यह स्पष्ट किया गया कि देश में पूरे मसले को लेकर राजनीति और तेज़ हो सकती है।