'BJP का मकसद राम मंदिर बनाना नहीं, मस्जिद गिराना था…', दिग्विजय सिंह ने साधा निशाना
'BJP का मकसद राम मंदिर बनाना नहीं, मस्जिद गिराना था…', दिग्विजय सिंह ने साधा निशाना
Share:

शिवपुरी: मध्य प्रदेश के पूर्व सीएम एवं कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने बड़ा बयान दिया है। उनका कहना है कि भारतीय जनता पार्टी का मकसद अयोध्या में राम मंदिर बनाना नहीं मस्जिद गिराना था। कांग्रेस कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए दिग्विजय सिंह ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी का काम हिंदू एवं मुसलमान को आपस में लड़ाना है। दिग्विजय सिंह ने कार्यक्रम में भारतीय जनता पार्टी पर जमकर निशाना साधा, साथ ही राम मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा के वक़्त को लेकर भी सवाल उठाया। 

उन्होंने कहा कि क्या कभी सुना है कि अधूरे मंदिर में प्राण प्रतिष्ठा की जाती है। भारतीय जनता पार्टी राम मंदिर की आड़ में लोकसभा चुनाव से पहले राम का सहारा लेने का प्रयास कर रही है। यही कारण है कि भारतीय जनता पार्टी ने अधूरे राम मंदिर में भगवान राम की प्राण प्रतिष्ठा करवा दी। उन्होंने कहा कि 1979 जब देश के पीएम राजीव गांधी थे तो उन्होंने विवादित भूमि पर पूजन नहीं किया था। किन्तु भारतीय जनता पार्टी के पीएम नरेंद्र मोदी ने महज वाहवाही लूटने के लिए अधूरे मंदिर में ही राम की प्राण प्रतिष्ठा कर दी। अपने संबोधन में पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह ने प्रधानमंत्री मोदी को चैलेंज भी दिया। उन्होंने कहा कि यदि प्रधानमंत्री में इतनी हिम्मत है तो वो लोकसभा चुनाव EVM की जगह बैलेट पेपर से करा कर देख लें। प्रधानमंत्री को पता चल जाएगा कि 400 सीट आती हैं या नहीं। 

दिग्विजय सिंह ने ये भी कहा कि वैलिड पेपर से चुनाव होने पर कांग्रेस को कोई हरा नहीं सकता। इसके साथ ही दिग्विजय सिंह ने बिना नाम लिए इशारों ही इशारों में पार्टी के कद्दावर नेता एवं पूर्व सीएम कमलनाथ पर भी तंज किया। दरअसल, बीते कुछ दिनों से कमलनाथ एवं उनके बेटे नकुल नाथ के कांग्रेस छोड़ भारतीय जनता पार्टी में सम्मिलित होने की अटकलें लगाई जा रही थी। इसकी को लेकर जब पत्रकार ने दिग्विजय सिंह से सवाल किया तो उन्होंने कहा कि एक गिलहरी थी जो इधर जाना चाहती थी उधर जाना चाहती थी मगर वह कहीं नहीं जा सकी एवं गाड़ी के नीचे आकर मर गई। उन्होंने इशारों में कहा कि जो दल बदलू लोगों का कहीं भला नहीं होता वो कहीं के नहीं रहते।

व्यापम घोटाले में आखिर आ ही गया फैसला, कोर्ट ने 7 दोषियों को सुनाई 7 साल की सजा, 12 बरी

लीक हो गया उत्तर प्रदेश पुलिस भर्ती का पेपर ? खबरों पर बोर्ड ने खुद दिया जवाब

'उनसे मिलकर ट्रॉमा में हैं बेटियां', महाभारत फेम नीतीश भारद्वाज की पत्नी ने दिया बड़ा बयान

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -