Share:
जहाँ हुई थी 'कन्हैयालाल' की निर्मम हत्या, उस उदयपुर में 32000 वोटों से जीती भाजपा
जहाँ हुई थी 'कन्हैयालाल' की निर्मम हत्या, उस उदयपुर में 32000 वोटों से जीती भाजपा

उदयपुर: भारत निर्वाचन आयोग द्वारा आज, 3 दिसंबर को चार राज्यों तेलंगाना, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान में विधानसभा चुनावों के वोटों की गिनती की जा रही है। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) इन चार राज्यों में से तीन में आराम से जीत हासिल कर रही है, जबकि कांग्रेस तेलंगाना जीतने के लिए तैयार है। राजस्थान में विधानसभा चुनाव में जहां भाजपा सत्तारूढ़ कांग्रेस को हरा रही है, वहीं उदयपुर से भाजपा उम्मीदवार ताराचंद जैन ने कांग्रेस के गौरव वल्लभ को 32,000 से ज्यादा वोटों से हराया। बता दें कि, यहाँ कट्टरपंथियों द्वारा हिंदू दर्जी कन्हैया लाल की नृशंस हत्या चुनाव प्रचार के दौरान भाजपा द्वारा उठाए गए विषयों में से एक थी।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राजस्थान विधानसभा चुनाव के लिए प्रचार अभियान की शुरुआत उदयपुर से की. चित्तौड़गढ़ में राजनीतिक रैली में अपने संबोधन के दौरान उन्होंने कन्हैया लाल की हत्या का जिक्र कर कांग्रेस को मुश्किल में डाल दिया था। उन्होंने कांग्रेस पार्टी पर तुष्टिकरण करने का आरोप लगाया था। इसके अलावा पीएम मोदी ने मध्य प्रदेश में चुनावी रैलियों के दौरान कन्हैया लाल हत्याकांड का भी जिक्र किया था। 2 अक्टूबर को, उन्होंने राजस्थान के चित्तौड़गढ़ जिले में एक भाषण के दौरान कांग्रेस की आलोचना की और कहा था कि, “क्या आपने कभी उदयपुर में जो हुआ, वैसा कुछ सोचा था? इतना बड़ा पाप उस राजस्थान में हुआ, जहां शत्रु पर भी छल से वार न करने की परंपरा है. हत्यारे कपड़े सिलवाने के बहाने आते हैं, बेखौफ होकर दर्जी की गर्दन काट देते हैं और फिर शान से वीडियो वायरल कर देते हैं। और कांग्रेस सरकार को वोट बैंक की भी चिंता है।” उन्होंने मध्य प्रदेश के ग्वालियर में अपनी रैली के दौरान भी इस बयान को दोहराया था। 

उदयपुर में भाजपा 32 हजार वोटों से जीती:-
चुनाव आयोग की वेबसाइट पर घोषित अंतिम परिणामों के अनुसार, भाजपा के ताराचंद जैन को 97,466 वोट मिले, उन्होंने कांग्रेस के गौरव वल्लभ को 32,771 से हराया, जिन्हें 64,695 वोट मिले। आम आदमी पार्टी (AAP) के मनोज लबाना को 348 वोट मिले। 2018 में भाजपा के गुलाब चंद कटारिया ने कांग्रेस की गिरिजा व्यास को 9,324 वोटों से हराया। कटारिया को जहां 74,808 वोट मिले, वहीं व्यास 65,484 वोट हासिल करने में कामयाब रहे. हालाँकि, इस बार भाजपा ने इस निर्वाचन क्षेत्र में 32,000 से अधिक वोटों के साथ आराम से जीत हासिल की। भाजपा और कांग्रेस के अलावा बाकी सभी उम्मीदवारों को 1000 से कम वोट मिले. नोटा को तीसरा सबसे अधिक वोट मिला, जिसमें 1579 मतदाताओं ने किसी भी उम्मीदवार को नहीं चुनने का फैसला किया।

झारखंड: रोज़गार मंत्री सत्यानंद भोक्ता के बेटे को कोर्ट में मिली नौकरी, प्रतीक्षा सूची में भतीजे का भी नाम

आंध्र प्रदेश से टकराएगा चक्रवाती तूफ़ान 'माइचांग' , पीएम मोदी ने सीएम जगन रेड्डी से की बात, दिया हर मदद का भरोसा

'जनता जनार्दन को नमन करता हूँ..', तीन राज्यों में भाजपा की प्रचंड जीत पर पीएम मोदी ने जताया आभार

 

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -