जब बाढ़ से निकलने की कोई राह नहीं पड़ी दिखाई, तो ड्रम पर बिठाकर दे दी बेटी को विदाई

Jul 13 2019 03:09 PM
जब बाढ़ से निकलने की कोई राह नहीं पड़ी दिखाई, तो ड्रम पर बिठाकर दे दी बेटी को विदाई

 

फारबिसगंज: बिहार के पूर्वी जिलों में तक़रीबन सभी नदियों का जल स्तर खतरों के निशान से ऊपर जा चुका है. जगह-जगह पुलिया और पुल टूटने से हजारों लोग फंस गए हैं. सड़क संपर्क टूटने से लोगों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है. इस दौरान फारबिसगंज में एक नवविवाहत जोड़े को शादी के बाद ड्रम के नाव पर विदाई दी गई. 

फारबिसंग के पिपरा में बाढ़ का पानी लगातार बढ़ते जा रहा है. सभी आवागमन सुविधा बंद हो गई है. परमान नदी का पानी सड़कों पर आ गया है. इसके साथ ही कई सड़कें भी टूट गई है. मुख्य मार्ग से संपर्क टूटने से लोग यहां-वहां फंसे हुए हैं. वहीं, प्रशासन की तरफ से पूरी सहायता नहीं मिलने के बाद लोगों को और भी परेशानियां हो रही है. फारबिसगंज में प्रशासन फंसे हुए लोगों को निकालने के लिए नाव मुहैया कराने असमर्थ हो गया है. डीएम ने कहा है कि उनके पास नाव नहीं हैं इस कारण वह कुछ नहीं कर पा रहे हैं. 

वहीं, लोग जुगाड़ के द्वारा अपनी जान बचाने के प्रयास में लगे हैं. वहीं, बाढ़ से ऐसे हालात हो गए हैं कि लोगों को अपनी बेटियों को जुगाड़ बना कर विदा करना पड़ रहा है. आमतौर पर तो बेटी डोली में विदा होती है, किंतु बाढ़ ने ऐसा कहर बड़पाया है कि बेटी को ड्रम से बनाई गई नाव पर विदा करना पड़ा.

किराएदारों और माकन मालिकों के लिए बनेगा नया कानून, तैयार हुआ ड्राफ्ट

बीच सड़क पर आराम फर्मा रहे थे शेर, गाड़ियों का लगा जाम और...

CCTV कैमरे में कैद हुआ BSF के ASI का जुर्म, दिल्ली एयरपोर्ट से हुआ गिरफ्तार