पुलवामा हमले में अब तक का सबसे बड़ा खुलासा, आतंकियों ने ऐसे बनाई थी पूरी योजना

नई दिल्ली: जम्मू कश्मीर के पुलवामा में 14 फरवरी 2019 को हुए आतंकी हमले को देश कभी भूल नहीं पाएगा। इस घटना के जख्म आज भी ताज़ा हैं। अब इस घटना के एक साल बाद इससे सम्बंधित एक बड़े रहस्य का पर्दाफाश हुआ है। हिन्दुस्तान टाइम्स कि रिपोर्ट के मुताबिक, अधिकारी इस घटना से सम्बंधित छोटे-छोटे सबूतों को जोड़ कर बड़े खुलासे करने के प्रयास में जुटे हुए हैं और अब उन्हें इस घटना की पूरी प्लानिंग के खुलासे को लेकर बड़ी सफलता मिली है।

अधिकारियों की माने तो इस पूरी वारदात को अंजाम देने के लिए आतंकियों ने छोटी-छोटी चोरियां की थीं और इन चोरियों से ही सारा सामान जमा किया गया था। आतंकियों ने पत्थर की खानों से तक़रीबन 500 जिलेटिन की छड़े चुराई थीं। इसके साथ ही इन आतंकियों ने आसपास की दुकानों ने थोड़ी-थोड़ी मात्रा में अमोनियम नाइट्रेट और अमोनियम खरीदा और पाकिस्तान से कई बार में छोटी-छोटी मात्रा में RDX मंगाया।बताया जा रहा है कि जिलेटिन की छड़ें जिसमें नाइट्रोग्लिसरीन होता है, उन्हें खुफिया एजेंसियों की नजरों से बचाने के लिए कम मात्रा में धीरे-धीरे इकठ्ठाकिया गया। बाकि सामग्री दुकानों से और आरडीएक्स पाकिस्तान से मंगाया गया।

इस बारे में पहले ही फॉरेंसिक विशेषज्ञों द्वारा जानकारी दी जा चुकी थी कि इस फिदायीन हमले में अमोनियम नाइट्रेट, नाइट्रोग्लिसरीन और आरडीएक्स का उपयोग किया गया था। इसके साथ ही, अधिकारियों का कहना है कि आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद कमांडर मुदस्सिर अहमद खान, इस्माइल भाई उर्फ लम्बू, समीर अहमद डार तथा शाकिर बशीर माग्रे ने चट्टानों को तोड़ने वाली कंपनी में उपयोग होने वाली जिलेटिन की छड़ों को छुट-पुट चोरी करते हुए धीरे-धीरे इकठ्ठा किया था।

जानिए क्या है जनधन खाते को खुलवाने की आयु सीमा

Gold Price : सोने की चमक पड़ी फीकी, पहले के मुकाबले गिरे दाम

क्या भारत से युद्ध करने की तैयारी कर रहा चीन ?

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -