बंगाल हिंसा: हत्या, बलात्कार, सामूहिक दुष्कर्म... CBI ने दर्ज किए 10 और मामले, अब तक कुल 31 केस दर्ज

कोलकाता: पश्चिम बंगाल में चुनाव बाद भड़की हिंसा के मामले में कोलकाता उच्च न्यायालय के आदेश के बाद केंद्रीय जाँच ब्यूरो (CBI) ने मंगलवार (1 सितंबर 2021) को 10 नए मामले दर्ज किए। इसके साथ ही CBI द्वारा दर्ज मामलों की तादाद बढ़कर 31 हो गई है। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, CBI प्रवक्ता आरसी जोशी ने नए मामलों के संबंध में जानकारी साझा करते हुए कहा कि, 'CBI ने डब्ल्यूपीए (पी) के मामले में पारित माननीय कलकत्ता हाई कोर्ट के आदेशों के अनुपालन में दस और केस दर्ज किए हैं।

रिपोर्ट के अनुसार, केस नंबर 142, 143, 144, 145, 146, 147, 148, 149 और 167 की जाँच अपने हाथ में ले ली, जो पश्चिम बंगाल के अलग-अलग पुलिस थानों में दर्ज थे।” पश्चिम बंगाल के नदिया जिले में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) कार्यकर्ता धर्म मंडल और दो अन्य की हत्या के आरोप में 28 अगस्त 2021 को बीजू और आसीमा घोष को अरेस्ट करने के बाद CBI ने यह कदम उठाया है। CBI द्वारा दर्ज किए गए 10 मामलों में पहला मामला बीरभूम जिले के नलहाटी पुलिस स्टेशन में 14 मई को जगधारी गाँव के एक निवासी के धान के खेत में मृत पाए जाने के बाद दर्ज किया गया था।

वहीं दूसरा केस शांतिनिकेतन थाने में दर्ज एक भीषण सामूहिक बलातकार का था। तीसरा मामला दुकानदारों से रंगदारी वसूलने और हत्या से संबंधित है। इस मामले में पीड़िता के पिता ने दक्षिण 24 परगना के रामनगर थाने में केस दर्ज कराया था। दक्षिण 24 परगना के नरेंद्रपुर थाने में दर्ज एक अन्य मामला क़त्ल और छेड़छाड़ का है। शिकायतकर्ता के घर पर लोहे की रॉड, बाँस, पिस्टल और डंडे से वार किया गया था। दर्ज किए गए नए मामलों में छह क़त्ल के, दो सामूहिक दुष्कर्म और बलात्कार के आरोप में दर्ज किए गए थे और अन्य हमले और संपत्ति को नष्ट करने से संबंधित हैं।

पहली तारीख को लुढ़के सोने-चांदी के दाम, जानिए आज का भाव

उपराष्ट्रपति ने कहा- "खादी को राष्ट्रीय ताने-बाने के रूप में मानें और इसके उपयोग को..."

आज से लागू होंगे नए नियम, आम जनता पर पड़ेगा भारी असर

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -