राजस्थान सरकार ने रद्द की बकरीद की छुट्टी, मनायेंगे दीनदयाल जयंती

जयपुर : राजस्थान सरकार ने बकरीद की छुट्टिया ना देने का और इस दिन स्कूलों और कॉलेजों मे रक्तदान शिविर का आयोजन करने का फैसला किया है. शिक्षण संस्थानों में यह फैसला इसलिए लिया गया है क्योंकि राजस्थान सरकार दीनदयाल उपाध्याय जयंती मनाना चाहती है. रक्तदान शिविर को देखते हुए संस्थानों में विद्यार्थियों और शिक्षकों को उपस्थिति अनिवार्य की गयी है. सभी 33 जिलों में इस कार्यक्रम जोर शोर से तैयारी शुरू हो चुकी है. इस कार्यक्रम के मद्देनजर कई सरकारी कर्मचारियों की छुट्टी भी स्थगित कर दी गयी है.

विद्यार्थियों को जागरूक करने के लिए कैंपस में 7 सितंबर से ही जागरूकता सप्ताह शुरू कर दिया गया है. यह 15 सितंबर तक जारी रहेगा. राज्य सरकार के इस फैसले पर विवाद शुरू हो गया है. कई संगठन इसका विरोध कर रहे हैं वहीं कांग्रेस ने इस मामले पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा, राजस्थान सरकार इस तरह का विवाद इसलिए पैदा कर रही है ताकि पुराने मुद्दों से ध्यान भटकाया जा सके. राजस्थान सरकार के जारी किये गये आदेश में लिखा है कि 25 सितंबर को राज्य के कॉलेज शिक्षा आयोग के संस्थानों में पंडित दीनदयाल की जयंती मनाई जाएगी, जिसमें ब्लड डोनेशन कैंप आयोजित किए जाएंगे.

सरकार ने कहा की बकरीद चांद दिखने पर निर्भर करता है यानी 24 और 25 सितंबर को किसी एक दिन बकरीद हो सकता है, जबकि पंडित दीनदयाल उपाध्याय की जयंती 25 सितंबर को है. राजस्थान सरकार की चिट्ठी में 24 सिंतबर को उपस्थित रहने को कहा गया है. सरकार ने इन विरोधी स्वरों का जवाब देते हुए कहा कि बल्ड डोनेट करना एक सामाजिक काम है. इस पर किसी को आपत्ति नहीं होनी चाहिए दिनदयाल उपाध्याय एक बड़े राजनेता है इसलिए इस मसले पर राजनीति भी नहीं होनी चाहिए.

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -