डेंगू को लेकर बाबा रामदेव ने दिया अचूक नुस्खा

Sep 17 2015 04:40 PM
डेंगू को लेकर बाबा रामदेव ने दिया अचूक नुस्खा

नई दिल्ली : दिल्ली में डेंगू के चलते बड़े पैमाने पर लोग बीमार हो रहे हैं. ऐसे में बाबा रामदेव ने आज डेंगू से बचने का उपाय बताया। उन्होंने कहा कि स्वाईन फ्लू और अन्य बीमारियों पर अध्ययन किया। इस दौरान रोगियों से संपर्क किया और बीमारों का उपाय बताया। ऐसे में उन्हें काफी आराम मिला। इस दौरान बाबा रामदेव ने कहा कि गिलोय, एलोवेरा, पपीता का पत्ता, अनार अचूक उपाय है। इन तत्वों को लेकर इसका अर्क दिन में दो बार पिलाने से डेंगू 100 प्रतिशत नियंत्रण में आ जाता है। उन्होंने कहा कि सुशांत नामक बच्चे को एलोपैथी से आराम नहीं मिल रहा था ऐसे में उसने यह जूस चार किलो तक पीया। कई दिनों की अलग-अलग मात्रा में इसने चार किलो जूस पिया और इसकी सेहत में असर हुआ। उन्होंने कहा कि यह किसी तरह का पाखंड का काम नहीं है। 

बाबा रामदेव ने कहा कि यह उपचार गोलगप्पे और रसगुल्ले जैसा नहीं है। बाबा रामदेव ने कहा कि बुखार के लिए क्रोसीन दी जाती है, उल्टी के लिए एंटेक्योनाल दी जाती है लेकिन इस जूस को पीने पर किसी तरह की दवाई नहीं दी जाती है। उन्होंने कहा कि लीवर को दुरूस्त करने के लिए एलोवेरा कार्य करता है। डेंगू के कारणों का निवार अर्थात बुखार, प्लेटलेट्स गिरना या कम होना, उल्टी दस्त होना इसे ये फल नियंत्रित करते हैं।

बाबा रामदेव ने आज इस मसले पर पत्रकारों से चर्चा करते हुए कहा कि कई रोगी इस उपचार से ठीक हुए हैं। इस मामले में बाबा रामदेव ने पत्रकारों के सामने कुछ रोगियों को सामने रखकर अपने उपचार की जानकारी दी। योग गुरू बाबा रामदेव ने कहा कि प्लेटलेट इस उपचार के बाद दो दिन में ही बढ़ जाता है। उन्होंने पत्रकारों से चर्चा करते हुए मरीजों की रिपोर्टस और इस उपचार से संबंधित दस्तावेज भी सामने रखे। उन्होंने कहा कि हमारी प्राचीन चिकित्सा पद्धतियां बड़ी वैज्ञानिक चिकित्सा है।

इस पर शोध करने की आवश्यकता है। बाबा रामदेव ने कहा कि लोगों का कहना रहता है कि कई असाध्य रोग ठीक हो जाते हैं ऐसा बाबा रामदेव मनगढ़ंत उल्लेख करते हैं, मगर यह कोई मन से बताई हुई बात नहीं है। इसे लेकर प्रमाण भी हैं।  उल्लेखनीय है कि डेगू से अब तक दिल्ली में लगभग 40 लोग मारे जा चुके हैं और अस्पताल मरीजों से पटे हुए हैं। ऐसे में बाबा रामदेव का घरेूल नुस्खा काफी कारगर साबित हो सकता है।