अरूण जेटली का दावा GST पर होगा कार्य

दावोस : शनिवार वित्त मंत्री अरूण जेटली ने कहा की भारत में अब मुख्य सुधार पर काम होगा। वह है कारोबार सुगमता और उसके लिये प्रशासन कदम उठायेगा। सकल घरेलू उत्पाद की वृध्दि दर को उच्च स्तर पर ले जाने और सुधार एजेंडे को जारी रखने को लेकर जेटली आश्वस्त नजर आ रहें है। जेटली ने विपक्षी पार्टी पर टिप्पणी करते हुये कहा कि राजनीतिक रूप से विरोध प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष कर सुधार समेत सुधार प्रक्रिया में किसी भी प्रकार से परेशानी या बाधा को पैदा नहीं कर सकता है जेटली ने यह भी कहा की हमें विश्वास है कि वस्तु एवं सेवा कर भी पारित हो जाएगा। यह उन सुधारों में शामिल है जो पहले कई दिनों से रूके हुए हैं।

सुधरी रैकिंग

जेटली के अनुसार जीएसटी के क्षेत्र में पिछले एक साल में कारोबार सुगमता में भारत की रैकिंग में बहुत फर्क आया है लेकिन इतने से ही काम नहीं चलेगा अभी भी इसमें बहुत कुछ करना बाकी है। इस क्षेत्र में अभी और कार्य किया जाना है।

अर्थव्यवस्था में भारत भी पीछे नहीं

साल में जो एक बार विश्व आर्थिक मंच की बैठक की जाती है उसमें आखिरी दिन वैश्विक आर्थिक परिदृश्य में केंद्रीय मंत्री ने बोला कि जीएसटी सरकार की प्राथमिकताओं में बहुत सुधार हुआ है और जिससे यह काफी उपर भी है इसके साथ ही मानना यह है कि आने वाले दिनो में नया दिवाला एवं शोधन अक्षमता संहिता सुधारो की दशा में एक और पहल होगी। इसी दौरान कई प्रतिभागियों का यह मानना है कि वैश्विक अर्थव्यवस्था में भारत की स्थिति अब पहले से काफी कुछ सुधरी सी नजर आ रही है। भारत सात प्रतिशत से अधिक की वृध्दि के साथ अच्छा स्थान बनाया हुआ है। जो अन्य बड़ी अर्थव्यवस्था के मुकाबले काफी अच्छी है।

भारत अब भी गरीबों का देश बना हुआ

जेटली ने कहा कि अब भी भारत की स्थिति खराब है यहां पर अब भी बहुत कुछ करना है क्योंकि भारत में आधी से ज्यादा आबादी अब भी गरीबी की जिन्दगी जी रही है। और यह एक बहुत बड़ी आधारभूत समस्या है। भारत को एसी स्थिति से बाहर निकानले के लिये सरकार को लंबे समय तक वृध्दि दर को उच्च स्तर पर ही बनाये रखना होगा। लेकिन इसके लिये मानसून का भी हमारे साथ होना जरूरी है क्योंकि पिछले दो बार से मानसून बिगड़े है जिससे ग्रामीण जीवन पर काफी गहरा असर पड़ा। और इससे वृध्दि दर पर भी बुरा असर पड़ा है।

जेटली के अनुसार अभी बीच में भारत की वृध्दि दर को बढ़ाने में कच्चे तेल की भी काफी अच्छी भुमिका रही है। लेकन निर्यात को लेकर स्थिति ठीक नहीं थी। इन सब स्थिति को देखते हुये सरकार कार्य कर रही है अगर इस क्षेत्र में कार्य सफल रहा तो हम आने वालों सालों में बहुत तेजी से वृध्दि कर सकते हैं। जेटली ने कहा कि मुझे लगता है कि सरकार ने अब तक जो भी कदम उठाएं हैं वे सब एक ही दिशा में हैं। यह एक अच्छी बात है कि आज के समय में तो भारतीय राज्य भी बहुत प्रतिस्पर्धी हो गए है। एक दूसरे से आगे बढ़ने के कारण कम से कम वो भी कार्य तो कर ही रहें हैं। अभी भी जीएसटी जैसे एक या दो विधेयक है जो अटके हुऐ हैं लेकिन इन पर कार्य किया जा रहा है सरकार तो प्रत्यक्ष कर में भी सुधार कर रही है। उसमें कोई भी समस्या नहीं आना चाहिए।

भारत कर रहा पहल

आज के इस वर्तमान समय में भारत भी हर जगह आगे बढने की कोशिश कर रहा है। मूल रूप से भारत अब करोबार सुगमता पर कार्यरत है। गरीबी पहलू को देखते हुए सरकार इस क्षेत्र पर भी कार्य कर रही है। कोशिश यही है कि आने वाले समय में भारत गरीबी को कम करने में सफल हो।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -